--Advertisement--

अगर आप सूर्यास्त के समय घर में अंधेरा रखते हैं तो हो सकते हैं ये नुकसान

घर में शास्त्रों के अनुसार बताई गई बातों का ध्यान रखा जाए तो शुभ फल मिल सकते हैं।

Dainik Bhaskar

Mar 18, 2018, 05:00 PM IST
vastu tips in hindi, money problems and vastu tips in hindi, dhan prapti ke upay

यूटिलिटी डेस्क. पुरानी परंपरा है कि सूर्यास्त के समय घर में अंधेरा नहीं रखना चाहिए, क्योंकि शाम का समय भगवान की पूजा के लिए श्रेष्ठ रहता है। ग्रथों में भी संध्या पूजन का विशेष महत्व बताया गया है। साथ ही, संध्या के समय घर में दीपक लगाना या प्रकाश करना भी आवश्यक माना जाता है। संध्या का शाब्दिक अर्थ है संधि का समय यानी वह समय जब दिन का समापन होता है और रात शुरू होती है, उसे संधिकाल कहा जाता है। ज्योतिष में दिन को तीन भागों में बांटा गया है- प्रात:काल, मध्याह्न और संध्याकाल। यहां जानिए उज्जैन के इंद्रेश्वर महादेव मंदिर के पुजारी और भागवत कथाकार पं. सुनील नागर के अनुसार इस परंपरा से जुड़ी खास बातें...

ये हैं पूजा के लिए श्रेष्ठ समय

पूजा के लिए सूर्योदय, मध्याह्न और सायंकाल का समय सबसे अच्छा रहता है। प्रात:काल में तारों के रहते हुए, मध्याह्न में जब सूर्य मध्य में हो और शाम को सूर्यास्त से पहले पूजा करनी चाहिए।

देवी-देवताओं की पूजा करने से सभी पाप दूर होते हैं और पुण्यों में बढ़ोतरी होती है। जिससे परेशानियों से मुक्ति मिलती है। रात या दिन में हम से जाने अनजाने जो बुरे काम हो जाते हैं, उनका बुरा असर इन तीनों समय में की गई पूजा से दूर हो सकता है।

शाम को घर में अवश्य दीपक

घर में शाम को अंधेरा नहीं रखना चाहिए। घर के मंदिर में कम से कम एक दीपक अवश्य जलाएं। साथ ही, पूरे घर में कुछ देर के लिए प्रकाश जरूर करें।

मिलेंगे ये लाभ

अगर शाम को घर में अंधेरा रहता है तो नकारात्मक ऊर्जा बढ़ती है। साथ ही, वास्तु के दोष भी बढ़ते हैं। घर की बरकत खत्म होती है और घर में अलक्ष्मी का आगमन होता है। इन सभी अशुभ बातों से बचने के लिए शाम को घर में अंधेरा रखने से बचना चाहिए। शाम को दीपक जलाने से सकारात्मकता बढ़ती है और वास्तु दोष दूर होते हैं। देवी-देवताओं की कृपा मिलती है।

X
vastu tips in hindi, money problems and vastu tips in hindi, dhan prapti ke upay
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..