• Easter Sunday on 1 April, know about Jesus s birth place.
विज्ञापन

ईस्टर संडे: इस चांदी के सितारे से है यीशु के जन्म का खास कनेक्शन, देखिए तस्वीरें / ईस्टर संडे: इस चांदी के सितारे से है यीशु के जन्म का खास कनेक्शन, देखिए तस्वीरें

dainikbhaskar.com|

Mar 31, 2018, 05:00 PM IST

ईसाई धार्मिक ग्रंथों के अनुसार, सूली पर लटकाए जाने के तीसरे दिन यीशु पुनर्जीवित हो गए थे।

चित्र: यीशु के जन्मस्थल पर बना चांदी का सितारा चित्र: यीशु के जन्मस्थल पर बना चांदी का सितारा
  • comment

यूटिलिटी डेस्क. ईस्टर संडे, ईसाइयों का महत्वपूर्ण धार्मिक पर्व है। ईसाई धार्मिक ग्रंथों के अनुसार, सूली पर लटकाए जाने के तीसरे दिन यीशु पुनर्जीवित हो गए थे। इस पर्व को ईसाई धर्म के लोग ईस्टर दिवस, ईस्टर रविवार या संडे के रूप में मनाते हैं। इस बार ईस्टर संडे 1 अप्रैल को है।
ईस्टर संडे, गुड फ्राईडे के बाद आने वाले रविवार को मनाया जाता है। ईस्टर खुशी का दिन होता है। इस पवित्र रविवार को खजूर इतवार भी कहा जाता है। ईस्टर का पर्व नए जीवन और जीवन के बदलाव के प्रतीक के रूप में मनाया जाता है। ईस्टर रविवार के पहले सभी गिरजाघरों में रात्रि जागरण तथा अन्य धार्मिक परंपराएं पूरी की जाती है तथा असंख्य मोमबत्तियां जलाकर प्रभु यीशु में अपने विश्वास प्रकट करते हैं।

यहां हुआ था यीशु का जन्म
बेतलेहेम दुनियाभर के ईसाइयों के लिए सबसे पवित्र और खास जगह मानी जाती है। मान्यताओं के अनुसार, यह वहीं शहर है जहां भगवान यीशु का जन्म हुआ था। यह शहर यरूशलेम से मात्र 5 कि.मी. की दूरी पर है। बेतलेहेम का चर्च ऑफ द नेटिविटी को दुनिया के सबसे प्राचीन चर्चों में से एक माना जाता है।


कब हुई थी इस चर्च की स्थापना
यह चर्च खास होने के साथ-साथ बहुत ही सुंदर भी है, जिसके कारण से हर समय यात्रियों के आकर्षण का कारण बना रहता है। इसकी स्थापना 339 ईस्वी में की गई थी, जो किसी ने नष्ट कर दिया था। कुछ सालों बाद यहां पहले से भी बड़े चर्च का निर्माण किया गया, जो आज मौजूद है।

बना हुआ है चांदी का सितारा
चर्च में एक जगह पर संगमरमर की फर्श पर एक चांदी का सितारा बना है, जिसमें 14 गोल आकृतियां उभरी हुई हैं। माना जाता है कि ठीक इसी जगह पर भगवान यीशु का जन्म हुआ था। इसी शहर में भगवान यीशु और मदर मैरी से जुड़ी एक और खास जगह है। मिल्क ग्रोटो नाम की एक जगह है, जिसे लेकर लोगों का मानना है कि यह वही जगह है, जहां मदर मैरी ने यीशु को हेरोदेस के सैनिकों के छुपाया था और उन्हें दूध पिलाया था।

चित्र: चर्च ऑफ द नेटिविटी चित्र: चर्च ऑफ द नेटिविटी
  • comment
चित्र: यीशु के जन्मस्थल पर बना चांदी का सितारा चित्र: यीशु के जन्मस्थल पर बना चांदी का सितारा
  • comment
चित्र: चर्च के अंदर का दृश्य चित्र: चर्च के अंदर का दृश्य
  • comment
X
चित्र: यीशु के जन्मस्थल पर बना चांदी का सिताराचित्र: यीशु के जन्मस्थल पर बना चांदी का सितारा
चित्र: चर्च ऑफ द नेटिविटीचित्र: चर्च ऑफ द नेटिविटी
चित्र: यीशु के जन्मस्थल पर बना चांदी का सिताराचित्र: यीशु के जन्मस्थल पर बना चांदी का सितारा
चित्र: चर्च के अंदर का दृश्यचित्र: चर्च के अंदर का दृश्य
COMMENT
Astrology

Recommended

Click to listen..
विज्ञापन

किस पार्टी को मिलेंगी कितनी सीटें? अंदाज़ा लगाएँ और इनाम जीतें

  • पार्टी
  • 2019
  • 2014
336
60
147
  • Total
  • 0/543
  • 543
कॉन्टेस्ट में पार्टिसिपेट करने के लिए अपनी डिटेल्स भरें

पार्टिसिपेट करने के लिए धन्यवाद

Total count should be

543
विज्ञापन