• The Ancient Temple Pond in Pakistan which is Made From Shivas Tears
विज्ञापन

पाकिस्तान में मौजूद है शिवजी के आंसुओं से भरा एक कुंड, सती के दुख में हुआ था ऐसा

Dainik Bhaskar

Feb 15, 2018, 05:00 PM IST

पाकिस्तान का कटसराज मंदिरः शिव के आंसुओं के बना है यहां का कटाक्ष कुंड

कटसराज मंदिर में बना कुंड कटसराज मंदिर में बना कुंड
  • comment

भगवान शिव के मंदिर दुनियाभर में मौजूद है। जिनमें से कई मंदिरों का निर्माण कुछ वर्षों पहले मनुष्यों के द्वारा किया गया है और कई मंदिर अनादि काल से स्थित है। भगवान शिव का ऐसा ही एक मंदिर है पाकिस्तान स्थित कटसराज मंदिर।

कटसराज मंदिर पाकिस्तान के चकवाल गांव से लगभग 40 कि.मी. की दूरी पर कटस नामक स्थान में एक पहाड़ी पर है। कहा जाता है कि यह मंदिर महाभारत काल (त्रेतायुग) में भी था। इस मंदिर से जुड़ी पांडवों की कई कथाएं प्रसिद्ध हैं।

भगवान शिव के आसुओं से बना है यहां का कुंड

मान्यताओं के अनुसार, कटसराज मंदिर का कटाक्ष कुंड भगवान शिव के आंसुओं से बना है। इस कुंड के निर्माण के पीछे एक कथा है। कहा जाता है कि जब देवी सती की मृत्यु हो गई, तब भगवान शिव उन के दुःख में इतना रोए की उनके आंसुओं से दो कुंड बन गए। जिसमें से एक कुंड राजस्थान के पुष्कर नामक तीर्थ पर है और दूसरा यहां कटसराज मंदिर में।

पांडवों ने किया था यहां के सात मंदिरों का निर्माण

कहा जाता है कि यहां के सात मंदिरों का निर्माण पांडवों ने महाभारत काल में किया था। पांडवों ने अपने वनवास के दौरान लगभग 4 साल यहां बिताए थे। पांडवों ने अपने रहने के लिए सात भवनों का निर्माण किया था। वहीं भवन अब सात मंदिर के नाम से प्रसिद्ध है। इस स्थान को लेकर यह भी मान्यता है कि इसी कुंड के तट पर युधिष्ठिर और यक्ष का संवाद हुआ था।

आगे देखें मंदिर की कुछ तस्वीरें...

कटसराज मंदिर और कुंड कटसराज मंदिर और कुंड
  • comment
मंदिर परिसर में बने सात घर में से एक मंदिर परिसर में बने सात घर में से एक
  • comment
मंदिर में स्थापित शिवलिंग मंदिर में स्थापित शिवलिंग
  • comment
मंदिर का एक दृश्य मंदिर का एक दृश्य
  • comment
X
कटसराज मंदिर में बना कुंडकटसराज मंदिर में बना कुंड
कटसराज मंदिर और कुंडकटसराज मंदिर और कुंड
मंदिर परिसर में बने सात घर में से एकमंदिर परिसर में बने सात घर में से एक
मंदिर में स्थापित शिवलिंगमंदिर में स्थापित शिवलिंग
मंदिर का एक दृश्यमंदिर का एक दृश्य
COMMENT
Astrology

Recommended

Click to listen..
विज्ञापन
विज्ञापन