--Advertisement--

बच्चों को बार-बार लगती है नजर तो कर सकते हैं ये 5 आसान उपाय

नजर लगना। हम यह शब्द बचपन से सुनते आ रहे हैं। नजर लगना सिर्फ मन की भ्रांति नहीं बल्कि एक वैज्ञानिक क्रिया है।

Danik Bhaskar | Jul 12, 2018, 05:34 PM IST
उज्जैन। हमारे समाज में नजर लगने की मान्यता काफी पुरानी है। ऐसा माना जाता है कि जब किसी को नजर लगती है वह असहज हो जाता है जैसे यदि किसी बच्चे को नजर लगती है वह रोने लगता है, उसका बदन तपने लगता है, वह चिड़चिड़ा हो जाता आदि। जानिए क्यों व कैसे लगती है किसी की नजर-


जानिए क्यों लगती है नजर

नजर लगना। हम यह शब्द बचपन से सुनते आ रहे हैं। नजर लगना सिर्फ मन की भ्रांति नहीं बल्कि एक वैज्ञानिक क्रिया है। विज्ञान के अनुसार शरीर में विद्युत तरंगें होती है। इन विद्युत तरंगों से किसी प्रकार से बाधित होने पर शरीर लकवे का शिकार हो जाता है अत: शरीर की विद्युतीय तरंगता से नजर लगने का सीधा संबंध है।

बड़ों की तुलना में बच्चों को अधिक नजर लगती है क्योंकि बच्चों का शरीर कोमल होता है तथा उनके शरीर में विद्युतीय क्षमता बड़ों की तुलना में कम होती है। यदि कोई बच्चों को एकटक देखता रहता है तो उसकी नजरों की ऊर्जा बच्चे की ऊर्जा को प्रभावित करती है। जिसके कारण बच्चा अनमना या बीमार हो जाता है। बुरी नजर से बचने के लिए ही बच्चों को काला टीका लगाया जाता है या काला धागा पहनाया जाता है।

इसका भी वैज्ञानिक कारण है। विज्ञान भी यह मानता है कि काला रंग ऊष्मा का अवशोषक है। अत: जब बच्चे को काला टीका या काला धागा बांधा जाता है तो वह किसी भी प्रकार की ऊष्मा (बुरी नजर) को बच्चों में प्रवेश नहीं करने देता तथा स्वयं ही अवशोषित कर लेता है। इसी वजह से बच्चों को नजर नहीं लगती।

ये हैं नजर उतारने के उपाय

1- नजर लगे व्यक्ति को लिटाकर फिटकरी का टुकड़ा सिर से पांव तक सात बार उतारें। ध्यान रखें हर बार सिर से पांव तक ले जाकर तलवे छुआकर फिर सिर से घुमाना शुरु करें। इस फिटकरी के टुकड़े को कंडे (गोबर के उपले) की आग पर डाल दें।

नजर उतारने के अन्य उपाय जानने के लिए अगली स्लाइड्स पर क्लिक करें-


तस्वीरों का इस्तेमाल प्रस्तुतिकरण के लिए किया गया है।


2- यदि बच्चे को नजर लगी हो और वह दूध नहीं पी रहा हो तो थोड़ा दूध एक कटोरी में लेकर बच्चे के ऊपर से सात बार उतार कर काले कुत्ते को पिला दें। बच्चा दूध पीने लगेगा। 

3- राई के कुछ दाने, नमक की सात डली और सात साबुत डंठल वाली लाल सूखी मिर्च बाएं हाथ की मुट्‌ठी में लेकर नजर लगे व्यक्ति को लिटाकर सिर से पांव तक सात बार उतारा करें और जलते हुए चूल्हे में झोंक दें। यह टोटका अनटोका करें। यह कार्य मंगलवार व शनिवार के दिन करें तो बेहतर रहता है।
4- एक रोटी बनाएं और इसे एक तरफ से ही सेकें, दूसरी तरफ  से कच्ची छोड़ दें। इसके सेकें हुए भाग पर तेल या घी लगाकर नजर लगे व्यक्ति के ऊपर से सात बार उतार कर किसी चौराहे पर रख आएं।

5- एक साफ  रुमाल पर हनुमानजी के पांव का सिंदूर लगाएं और इस रुमाल पर दस ग्राम काले तिल, दस ग्राम काले उड़द, एक लोहे की कील, तीन साबूत लाल मिर्च लेकर उसकी पोटली बना लें। जिस व्यक्ति को नजर लगी हो उसके सिरहाने यह पोटली रख दें। चौबीस घंटे के बाद यह पोटली किसी नदी या बहते हुए जल में बहा दें। यह बहुत ही प्रभावशाली टोटका है।