Hindi News »Khabre Zara Hat Ke »Mano Ya Na Mano» Scientiests Found 55000 Year Old Lion Cubs In Perfect Condion

55000 साल से दफ्न थे ये जीव, हालत देख साइंटिस्ट्स को भी नहीं हुआ यकीन

दावा है कि ये आईस ऐज के दौरान मौजूद थे, पैदा होते ही इनकी मौत हो गई थी।

dainikbhaskar.com | Last Modified - Dec 02, 2017, 10:17 AM IST

    • साइबेरिया के जंगलों में साइंटिस्ट्स को ऐसी चीज मिली कि वे इसपर खुद यकीन नहीं कर पा रहे हैं। बर्फीले जंगलों में खुदाई के दौरान इन्हें दो शेर के बच्चे मिले जो लगभग 55000 साल पुराने बताए जा रहे है। दावा है कि ये आईस ऐज के दौरान मौजूद थे, पैदा होते ही इनकी मौत हो गई थी। लेकिन इतने सालों बाद भी इनकी बॉडी वैसी की वैसी ही पाई गई। आखिर कैसे संभव है ये?

      - रिसर्च कर रहे कई सांइटिस्ट् तब हैरान रह गए जब उन्होंने इन दोनों शेर के बच्चो पर बारीकी से स्टडी की। इसमें सामने आया कि ये लगभग 55 हजार सालों से जमे हुए हैं और यही कारण है कि ये आज भी लगभग उसी स्थिति में थे।

      भूख से हुई थी मौत
      - स्टडी में सामने आया कि इनके पेट में दूध का एक भी कड़ नहीं गया था। इससे यह प्रतीत होता है कि इनकी मौत भूख की वजह से हुई थी।

      - Russian Academy of Sciences के डॉक्टर Dr Albert Protopopov के मुताबिक हमें पहले लगा कि ये कुछ हफ्तों के रहे होंगे पर ये सामने आया कि इनकी मौत पैदा होने के एक या दो दिन बाद ही हो गई थी।

      आगे की स्लाइड्स में देखें, साइबेरिया में मिले शेर के इन बच्चों के फोटोज...

    • 55000 साल से दफ्न थे ये जीव, हालत देख साइंटिस्ट्स को भी नहीं हुआ यकीन
      +4और स्लाइड देखें
    • 55000 साल से दफ्न थे ये जीव, हालत देख साइंटिस्ट्स को भी नहीं हुआ यकीन
      +4और स्लाइड देखें
    • 55000 साल से दफ्न थे ये जीव, हालत देख साइंटिस्ट्स को भी नहीं हुआ यकीन
      +4और स्लाइड देखें
    • 55000 साल से दफ्न थे ये जीव, हालत देख साइंटिस्ट्स को भी नहीं हुआ यकीन
      +4और स्लाइड देखें
    आगे की स्लाइड्स देखने के लिए क्लिक करें
    दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | Hindi Samachar अपने मोबाइल पर पढ़ने के लिए डाउनलोड करें Hindi News App, या फिर 2G नेटवर्क के लिए हमारा Dainik Bhaskar Lite App.
    Web Title: Scientiests Found 55000 Year Old Lion Cubs In Perfect Condion
    (News in Hindi from Dainik Bhaskar)

    More From Mano Ya Na Mano

      Trending

      Live Hindi News

      0

      कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
      Allow पर क्लिक करें।

      ×