Hindi News »Khabre Zara Hat Ke News »Do You Know News» BOXER MUHAMMAD ALI BIRTHDAY SPECIAL

मोहम्मद अली इस वजह से बने थे बॉक्सर, इस चीज से लगता था डर

DainikBhaskar.com | Last Modified - Jan 17, 2018, 04:46 PM IST

रिंग में सबके छक्के छुड़ाने वाले मोहम्मद अली को भी एक चीज से डर लगता था।
  • मोहम्मद अली इस वजह से बने थे बॉक्सर, इस चीज से लगता था डर
    +7और स्लाइड देखें
    पानी में बॉक्सिंग की प्रैक्टिस करते हुए मोहम्मद अली

    हटके डेस्क. वो बॉक्सिंग रिंग में तितली की तरह उड़ता था। एक पंच में विरोधी को चित कर देता था। वो मोहम्मद अली था। जी हां, अमेरिका के महान मुक्केबाज मोहम्मद अली का जन्म 17 जनवरी 1942 को केंटुकी में हुआ था। बचपन में मां-पिता ने उनका नाम कैसियस क्ले रखा, लेकिन उनकी जिंदगी में ऐसा कुछ हुआ कि वो कैसियस से मोहम्मद अली बन गए। इससे भी दिलचस्प उनके बॉक्सर बनने की कहानी है।

    मोहम्मद अली कैसे बने बॉक्सर
    मोहम्मद अली को उनके पिता ने एक साइकिल गिफ्ट की। जिसे लेकर वो पूरे दिन घूमा करते थे। लेकिन एक दिन ऐसा हुआ कि उनकी साइकिल चोरी हो गई। 12 साल के अली ने पुलिस से कहा कि वो चोर को पकड़कर रहेंगे और खुद से उसे उसकी सजा देंगे। पुलिस ऑफिसर से उनके घरेलू संबंध थे। पुलिसवाले ने उनसे कहा कि पहले बॉक्सिंग करना शुरू करो तभी बदला ले सकोगे। तभी से उन्होंने बॉक्सिंग की प्रेक्टिस शुरू की। खुद उस पुलिस ऑफिसर ने एक किताब में लिखा कि मोहम्मद अली ने चोर को सजा देने के लिए बॉक्सिंग को अपना जूनून बना लिया।

    आगे की स्लाइड में देखें, किस चीज से डरते थे मोहम्मद अली...

  • मोहम्मद अली इस वजह से बने थे बॉक्सर, इस चीज से लगता था डर
    +7और स्लाइड देखें
    मोहम्मद अली और ब्रूस ली

    किस चीज से डरते थे मोहम्मद अली
    रिंग में विरोधी को चित कर देने वाले मोहम्मद अली का भी एक डर था। जिसका खुलासा 1960 में हुआ। जब रोम ओलिंपिक होने वाला था। अली को भी ओलिंपिक में शामिल होना था लेकिन उन्होंने जाने से इनकार कर दिया। उन्होंने बताया कि वो हवाई जहाज में उड़ने से डरते हैं। इसके बाद एक पैरासूट का इंतजाम किया गया। वो पैरासूट पहनकर फ्लाइट में बैठे। लेकिन रोम जाते ही उन्होंने तहलका मचा दिया। उन्होंने लाइट वेट कैटेगरी में गोल्ड मेडल जीता। अमेरिका लौटने पर उनका गर्मजोशी से स्वागत किया गया।

    आगे की स्लाइड में देखें, मोहम्मद अली ने क्यों कबूल किया इस्लाम...

    G
    M
    T
    Detect languageAfrikaansAlbanianArabicArmenianAzerbaijaniBasqueBelarusianBengaliBosnianBulgarianCatalanCebuanoChichewaChinese (Simplified)Chinese (Traditional)CroatianCzechDanishDutchEnglishEsperantoEstonianFilipinoFinnishFrenchGalicianGeorgianGermanGreekGujaratiHaitian CreoleHausaHebrewHindiHmongHungarianIcelandicIgboIndonesianIrishItalianJapaneseJavaneseKannadaKazakhKhmerKoreanLaoLatinLatvianLithuanianMacedonianMalagasyMalayMalayalamMalteseMaoriMarathiMongolianMyanmar (Burmese)NepaliNorwegianPersianPolishPortuguesePunjabiRomanianRussianSerbianSesothoSinhalaSlovakSlovenianSomaliSpanishSundaneseSwahiliSwedishTajikTamilTeluguThaiTurkishUkrainianUrduUzbekVietnameseWelshYiddishYorubaZulu
    AfrikaansAlbanianArabicArmenianAzerbaijaniBasqueBelarusianBengaliBosnianBulgarianCatalanCebuanoChichewaChinese (Simplified)Chinese (Traditional)CroatianCzechDanishDutchEnglishEsperantoEstonianFilipinoFinnishFrenchGalicianGeorgianGermanGreekGujaratiHaitian CreoleHausaHebrewHindiHmongHungarianIcelandicIgboIndonesianIrishItalianJapaneseJavaneseKannadaKazakhKhmerKoreanLaoLatinLatvianLithuanianMacedonianMalagasyMalayMalayalamMalteseMaoriMarathiMongolianMyanmar (Burmese)NepaliNorwegianPersianPolishPortuguesePunjabiRomanianRussianSerbianSesothoSinhalaSlovakSlovenianSomaliSpanishSundaneseSwahiliSwedishTajikTamilTeluguThaiTurkishUkrainianUrduUzbekVietnameseWelshYiddishYorubaZulu
    Text-to-speech function is limited to 200 characters
  • मोहम्मद अली इस वजह से बने थे बॉक्सर, इस चीज से लगता था डर
    +7और स्लाइड देखें
    नेल्सन मंडेला के साथ मोहम्मद अली

    कब बने मोहम्मद अली
    मोहम्मद अली सिर्फ एक बॉक्सर ही नहीं थे बल्कि उनमें समाज की बुराईयों के खिलाफ लड़ाई का भी जूनून था। वो अमेरिकी समाज में नस्लभेदी मानसिकता को कुचल देना चाहते थे। यही वजह थी कि वो कैसियस क्ले से मोहम्मद अली बने। ऐसा उन्होंने तब तय किया जब एक रेस्टोरेंट में उन्हें टेबल देने से मना कर दिया गया। तब अली ने अपना गोल्ड मेडल फेंक दिया। उस घटना के बाद ही उन्होंने इस्लाम धर्म कबूल करने का मन बना लिया। कुछ साल बाद 1964 में उन्होंने सार्वजनिक रूप से इस्लाम अपना लिया। यहां उनका नाम मोहम्मद अली रखा गया। इसी नाम के साथ वो तीन बार हैवी वेट चैंपियन बने। उन्होंने इंपासिबल इज नथिंग जैसे कई यादगार कोट्स दिए।

  • मोहम्मद अली इस वजह से बने थे बॉक्सर, इस चीज से लगता था डर
    +7और स्लाइड देखें
    अपनी बेटी के साथ मोहम्मद अली

    यूएस आर्मी में भर्ती होने से किया था इनकार:
    मोहम्मद अली को यूएस आर्मी में सेना में भर्ती होने के लिए बुलाया, लेकिन उन्होंने मना कर दिया। मोहम्मद अली को ऑफर ठुकराने के बाद सजा मिली, लेकिन वो जुर्माना देकर बचे। मोहम्मद अली रिंग में तितली की तरह उड़ते थे। एक पंच में विरोधी को चित कर देते थे। रिंग में उतरने के पांच साल के अंदर ही वो अमेरिका में मशहूर हो गए। 17 साल की उम्र में ही गोल्डन ग्लब्स का खिताब अपने नाम कर लिया।

  • मोहम्मद अली इस वजह से बने थे बॉक्सर, इस चीज से लगता था डर
    +7और स्लाइड देखें
    रिंग में मोहम्मद अली
  • मोहम्मद अली इस वजह से बने थे बॉक्सर, इस चीज से लगता था डर
    +7और स्लाइड देखें
    रिंग में मोहम्मद अली
  • मोहम्मद अली इस वजह से बने थे बॉक्सर, इस चीज से लगता था डर
    +7और स्लाइड देखें
    रिंग में जाते हुए मोहम्मद अली
  • मोहम्मद अली इस वजह से बने थे बॉक्सर, इस चीज से लगता था डर
    +7और स्लाइड देखें
    रिंग में प्रेयर करते हुए मोहम्मद अली
आगे की स्लाइड्स देखने के लिए क्लिक करें
दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | Hindi Samachar अपने मोबाइल पर पढ़ने के लिए डाउनलोड करें Hindi News App, या फिर 2G नेटवर्क के लिए हमारा Dainik Bhaskar Lite App.
Web Title: BOXER MUHAMMAD ALI BIRTHDAY SPECIAL
(News in Hindi from Dainik Bhaskar)

Stories You May be Interested in

      रिजल्ट शेयर करें:

      More From Do You Know

        Trending

        Live Hindi News

        0
        ×