--Advertisement--

ये है इंडिया की बढ़ती ताकत का सबूत, अब अंग्रेजों को भी सीखनी पड़ रही हिंदी

इन दिनों ब्रिटेन के एक कॉलेज में लोगों को हिंदी और हिंग्लिश सिखाई जा रही है।

Danik Bhaskar | Mar 09, 2018, 05:23 PM IST

भारत में जहां लोग नौकरी पाने के लिए अंग्रेजी सीखते रहे हैं तो वहीं आज हमारी हिंदी भाषा को सीखने के लिए अंग्रेजों में होड़ लगी है। जी हां, इन दिनों ब्रिटेन के एक कॉलेज में लोगों को हिंदी और हिंग्लिश सिखाई जा रही है। मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक यहां के पोर्ट्समाउथ कॉलेज में स्टूडेंट के लिए हिंदी का नया कोर्स शामिल किया गया है। हिंदी+इंग्लिश का कॉम्बिनेशन...

- इस कोर्स में हिंदी और इंग्लिश के ऐसे शब्द शामिल किए गए हैं जो दोनों कॉन्टिनेंट में सबसे ज्यादा इस्तेमाल किए जाते हैं। ये शब्द इंडियन बिजनेस, फिल्मों और म्यूजिक और विज्ञापनों में सबसे ज्यादा इस्तेमाल की जाती हैं।

क्यों सिखाई जा रही Hinglish
- हिंग्लिश यानी हिंदी और इंग्लिश को मिक्स कर बने शब्द जिनका प्रयोग दोनों भाषाओं का इस्तेमाल कर किया जाता है। ब्रिटिशर्स मानते हैं कि भारतीय इकोनॉमी जो कि दुनिया में सबसे तेजी से बढ़ती इकोनॉमी है, उसमें अपनी जगह बनाने के लिए हिंदी सीखना बहुत जरूरी है। वहीं पोर्ट्समाउथ कॉलेज का मानना है कि साउथ कॉन्टिनेंट में हिंग्लिश बहुत तेजी से बढ़ रही है।

हिंदी फिल्मों से भी ले रहे सीख
- पोर्ट्समाउथ कॉलेज की ओर से प्रोफेसर विराज शाह ने कहा, हम यहां स्टूडेंट को हिंग्लिश सिखाने के लिए हिंदी फिल्में भी दिखा रहे हैं, यहां फिल्मों के टाइटल जैसे EK THA TIGER, फिल्मों की स्क्रिप्ट और सबटाइटल का भी सहारा लिया जा रहा है।