Hindi News »Khabre Zara Hat Ke »Do You Know» Dangerous Things Which Used To Be Normal In History

डाक के जरिए चिट्ठियां नहीं बच्चे भेजे जाते थे, ऐसे थे हिस्ट्री में 5 खतरनाक काम

1930 में ब्रिटिश फैमिली बच्चों को रखने के लिए पिंजरे का इस्तेमाल करती थी

Dainikbhaskar.com | Last Modified - Jan 10, 2018, 07:32 PM IST

  • डाक के जरिए चिट्ठियां नहीं बच्चे भेजे जाते थे, ऐसे थे हिस्ट्री में 5 खतरनाक काम
    +5और स्लाइड देखें
    पिंजरे में बच्चा

    हटके डेस्क. कभी सोचा है कि बच्चों को एक जगह से दूसरी जगह डाक के जरिए भेजा जाए। डॉक्टर मरीज की जीभ काटकर इलाज करे। बच्चों को पिंजरे में रखा जाए। सुनने में यह सारी बातें अजीब लग सकती हैं लेकिन हकीकत ये है कि इतिहास के यह सभी चीजें कानूनी थीं। बच्चों को पिंजरे में रखना...

    बच्चों के पिंजरे: 1930 में ब्रिटिश फैमिली बच्चों को रखने के लिए पिंजरे का इस्तेमाल करती थी। तारों से बनें पिंजरे बच्चों के लिए सुरक्षित माने जाते थे। जब महिलाएं अपने रोज के कामों में व्यस्त रहती थीं तो वो बच्चों को पिंजरे में बंद कर देती थी। जिससे वो सुरक्षित तो रहते ही थे साथ ही वो बाहर के माहौल से भी जुड़े रहते थे। बच्चों को पिंजरे में रखने का आइडिया लूथर एमेट की किताब द केयर एंड फीडिंग ऑफ चिल्ड्रेन से लिया गया था।

    आगे की स्लाइड्स में देखें, दवा की दुकानों पर मिलती थी कोकीन

  • डाक के जरिए चिट्ठियां नहीं बच्चे भेजे जाते थे, ऐसे थे हिस्ट्री में 5 खतरनाक काम
    +5और स्लाइड देखें
    कोकीन का दवा में इस्तेमाल

    दवा की दुकानों पर कोकीन मिलती थी: आज कोकीन पर बैन है लेकिन 100 साल पहले कोकीन दवा की दुकानों पर खुलेआम बिका करती थी। लोग डॉक्टर के सजेशन के बिना भी इसे आराम से खरीद सकते थे। कोकीन का इस्तेमाल दवा के रूप में इलाज के लिए किया जाता था।

    आगे की स्लाइड में देखें,डाक से भेजे जाते थे बच्चे...

  • डाक के जरिए चिट्ठियां नहीं बच्चे भेजे जाते थे, ऐसे थे हिस्ट्री में 5 खतरनाक काम
    +5और स्लाइड देखें
    बच्चे को डाक से भेजना

    बच्चों को डाक के जरिए भेजना: 20वीं सदी की शुरुआत में अमेरिकन अपने बच्चों को डाक के जरिए एक जगह से दूसरी जगह भेजते थे। इसे गैर कानूनी भी नहीं माना जाता था। बच्चों को पास एक स्टैंप होती थी। जो उनके कपड़ों से जुड़ी होती थी। स्टैंप में बच्चे से जुड़ी सारी जानकारी होती थी। जिससे वो सुरक्षित अपनी जगह पहुंच जाते थे।

    आगे की स्लाइड में देखें, इंसानों का चिड़ियाघर..

  • डाक के जरिए चिट्ठियां नहीं बच्चे भेजे जाते थे, ऐसे थे हिस्ट्री में 5 खतरनाक काम
    +5और स्लाइड देखें
    इंसानों का चिड़ियाघर

    इंसानों का चिड़ियाघर: कल्पना करिए कि आज कहीं पर इंसानों को चिड़ियाघर हो तो उसका कितना विरोध होगा, लेकिन एक वक्त था जब एशियन और अफ्रीकन प्रजाति के लोगों को दिखाने के लिए चिड़ियाघर खोले गए थे। इंसानी चिड़ियाघर देखने के लिए लोग दूर-दूर से आते थे। जहां पर दुनिया की अलग-अलग प्रजातियां लोक नृत्य के अलावा दूसरों तरीकों से उनका मनोरंजन करती थीं। ऐसे चिड़ियाघर पेरिस, लंदन और बर्लिन में आसानी से मिल जाते थे।

    आगे की स्लाइड में देखें, प्रेग्नेंसी के दौरान स्मोकिंग
  • डाक के जरिए चिट्ठियां नहीं बच्चे भेजे जाते थे, ऐसे थे हिस्ट्री में 5 खतरनाक काम
    +5और स्लाइड देखें
    प्रेग्नेंसी में स्मोकिंग

    प्रेग्नेंसी के दौरान स्मोकिंग: अगर कोई महिला प्रेग्नेंट हो तो उसके आस-पास भी स्मोकिंग करने से मना किया जाता है, लेकिन 70 साल पहले अमेरिकन डॉक्टर्स मरीजों को कब्ज के इलाज के लिए स्मोकिंग की सलाह देते थे। इसके अलावा गर्भवती महिलाओं को भी स्मोकिंग की सलाह दी जाती थी, ताकि प्रेग्नेंसी के दौरान नसों में जो होने वाले तनाव से आराम मिल सके।

  • डाक के जरिए चिट्ठियां नहीं बच्चे भेजे जाते थे, ऐसे थे हिस्ट्री में 5 खतरनाक काम
    +5और स्लाइड देखें
    बच्चे को डाक से भेजना
आगे की स्लाइड्स देखने के लिए क्लिक करें
दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | Hindi Samachar अपने मोबाइल पर पढ़ने के लिए डाउनलोड करें Hindi News App, या फिर 2G नेटवर्क के लिए हमारा Dainik Bhaskar Lite App.
Web Title: Dangerous Things Which Used To Be Normal In History
(News in Hindi from Dainik Bhaskar)

More From Do You Know

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×