--Advertisement--

पीएसी जवानों की आत्माओं ने इस गांव को बनाया भुतहा, ऐसी है ये स्टोरी

हादसे में तड़प-तड़प कर जवानों की मौत हो गई। इसके बाद जवानों की रूहों ने इस गांव पर कोहराम मचाया।

Dainik Bhaskar

Dec 17, 2017, 04:51 PM IST
haunted Swala village at Champawat district in  Uttrakhand
आपने सुना होगा इस गांव में भूत-प्रेम है, उस गांव में भूत-प्रेत है पर क्या आपने ऐसा सुना है कि एक गांव ऐसा है, जहां भूतों का बसेरा है और वहां इंसानों का कोई वजूद ही नहीं। भूत- प्रेतों का कहर इस गांव पर कुछ इस तरह टूटा कि ये पूरा गांव ही वीरान हो गया। आखिर क्या हुआ था उस गांव में, आइए जानते हैं। ये गांव है उत्तराखंड के चंपावत जिले का और इसका नाम है स्वाला।इस गांव को लोग भुतहा कहते हैं। पहले तो यहां पर इंसान रहा करते थे पर भूत-प्रेतों का आतंक इतना बढ़ गया कि सारे लोगों को ये गांव खाली करना पड़ा। आइए जानते हैं इस गांव के भुतहा होने के पीछे की स्टोरी।कहते हैं कि 1952 में गांव के पास से पीएसी की एक बटालियन की बस जा रही थी। इसमें आठ जवान बैठै थे, लेकिन गांव के पास ये गाड़ी खाई में गिर गई और इसमें जवान फंस गए। वे बचाने के लिए गांव के लोगों को पुकारते रहे, लेकिन गांव के लोग जवानों का सामान लूटते रहे। इस हादसे में तड़प-तड़प कर जवानों की मौत हो गई। इसके बाद जवानों की रूहों ने इस गांव पर वो कोहराम मचाया कि यहां के लोगों को ये गांव छोड़ना पड़ा। शायद गलती गांववालों की थी। अगर वो उन जवानों की मदद करते तो शायद उन्हें गांव छोड़कर जाना नहीं पड़ता और वो जवान भी जिंदा होते। अभी भी उस गांव में उन आत्माओं का बसेरा है। लोग बताते हैं कि उन्हें दिखाई देता है कि गांव में वो जवान अभी इधर-उधर घूमते हुए दिखाई देते हैं। इस गांव में सिर्फ शांत है, जो एहसास दिलाती है कि यहां सिर्फ आत्माएं हैं। इस गांव के पास जहां पीएसी की गाड़ी गिरी थी, वहां पर एक मंदिर बनाया गया है और इस रास्ते से गुजरने वाली हर गाड़ी यहां रुकती है। ये गांव पूरी तरह से वीरान है और शायद आगे भी वीरान रहे। यहां देखें ये पूरा वीडियो।
X
haunted Swala village at Champawat district in  Uttrakhand
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..