Hindi News »Khabre Zara Hat Ke »OMG» Head Of Serial Killer Diogo Alves Preserved Lisbon, Portugal

176 साल से रखा ये कटा सिर, ऐसी है इसकी हॉरर स्टोरी

एक यूनिवर्सिटी में डियागो एल्विस नाम के एक शख्स का ये सिर करीब 176 सालों से प्रिजर्व करके रखा गया है।

dainikbhaskar.com | Last Modified - Jan 06, 2018, 11:15 AM IST

    आपने सैकड़ों साल पुराने शवों की ममी तो देखी होगी, लेकिन क्या आप इस कटे हुए सिर के बारे में जानते हैं, जिसे बॉटल में रखा गया है और इसके पीछे की कहानी क्या है। पुर्तगाल की एक यूनिवर्सिटी में डियागो एल्विस नाम के एक शख्स का ये सिर करीब 176 सालों से प्रिजर्व करके रखा गया है। अाखिर कौन था ये डियागो एल्विस और क्यों इसका सिर 176 सालों से ऐसे संभाल कर रखा गया है। आइए जानते हैं उसके एक आम आदमी से सीरियल किलर तक बनने की कहानी। डियागो का जन्म स्पेन में 1810 में गैलासिया में हुआ था। वह काम की तलाश में पुर्तगाल की लिस्बन सिटी आया था। डियागो ने काफी समय तक काम की तलाश की एफ्लुएंट होम ऑफ दि कैपिटल सिटी में काम मिल गया। लेकिन कुछ ही दिनों में डियोगो ये समझ गया कि पैसे बनाने के लिए क्राइम की ही दुनिया सबसे आसान तरीका है। उसने सबसे पहले लूटपाट का रास्ता अपनाया, जिसमें वह ज्यादातर किसानों को अपना शिकार बनाता था। इसके लिए डियागो ने लिस्बन में एक नदी पर बने पुल पर शाम के वक्त फसल बेचकर अपने गांव लौट रहे किसानों को लूटना शुरू किया। जैसे ही कोई किसान अकेले निकलता तो डियागो उसे अपना निशाना बनाता। इतना ही नहीं, लूटने के बाद वह उनकी हत्या भी कर देता था अौर लाश नदी में फेंक देता था। उसने ऐसे कई दर्जन किसानों को मौत के घाट उतारा। जब पुलिस के पास गायब हो रहे किसानों की खबर पहुंची तो उन्हें लगा कि आर्थिक तंगी के कारण किसान सुसाइड कर रहे हैं। हालांकि, नदी से कुछ ऐसे शव मिले, जिनमें धारदार हथियार से घाव के निशान थे। इससे पुलिस को ये पता चला कि ये सुसाइड नहीं मर्डर हैं। पुलिस ने मर्डर रोकने के लिए उस पुल को ही बंद करवा दिया लेकिन इस क्रिमनल की वारदात यहीं नहीं रुकीं और फिर उसने इतने मर्डर किए कि पुर्तगाल का वह सबसे बड़ा क्रिमनल बन गया। पकड़े जाने के बाद उसका क्या अंजाम हुआ और डियागो के सिर 176 सालों से क्यों इस तरह रखा गया है? जानने के लिए देखें ये वीडियो।
    दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | Hindi Samachar अपने मोबाइल पर पढ़ने के लिए डाउनलोड करें Hindi News App, या फिर 2G नेटवर्क के लिए हमारा Dainik Bhaskar Lite App.
    Web Title: 176 saal se rkhaa ye ktaa sir, aisi hai iski horr stori
    (News in Hindi from Dainik Bhaskar)

    More From OMG

      Trending

      Live Hindi News

      0

      कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
      Allow पर क्लिक करें।

      ×