Hindi News »Khabre Zara Hat Ke »OMG» In This Community Of Madhya Pradesh Daughters & Sisters Are Turned Into Prostitutes For Money

गंदी परंपरा: MP का एक इलाका- यहां बेटी-बहनों से कराई जाती है वेश्यावृत्ति, भाई-पिता लाते हैं ग्राहक

मध्य प्रदेश के नीमच-मंदसौर और रतलाम जिलों में बांछड़ा समुदाय कई साल से वेश्यावृति का धंधा कर रहा है।

Dainikbhaskar.com | Last Modified - Mar 20, 2018, 02:53 PM IST

  • गंदी परंपरा: MP का एक इलाका- यहां बेटी-बहनों से कराई जाती है वेश्यावृत्ति, भाई-पिता लाते हैं ग्राहक
    +1और स्लाइड देखें

    इंदौर.भारत में वेश्यावृत्ति गैरकानूनी है। सरकारों ने वक्त-वक्त पर इसे खत्म करने के लिए कई कार्यक्रम चलाए। दुख की बात ये है कि देश के कुछ हिस्सों में आज भी यह काम सिर्फ परंपरा के नाम पर अंजाम दिया जा रहा है। यहां बात मध्य प्रदेश के नीमच-मंदसौर और रतलाम जिलों की। इस क्षेत्र में बांछड़ा समुदाय कई साल से वेश्यावृति का धंधा कर रहा है। हैरानी की बात ये है कि इस समुदाय के लोगों के लिए यह घृणित परंपरा इतनी आम है कि वो लड़कियों को इस धंधे में उतारने में बिलकुल नहीं हिचकिचाते।

    भाई-पिता लाते हैं कस्टमर

    - दरअसल, बांछड़ा समुदाय में आजीविका चलाने का प्रमुख साधन ही वेश्यावृति है। यहां लड़कियों के जन्म पर खुशियां मनाई जाती है क्योंकि उनके लिए यही आगे चलकर घर चलाने का जरिया बन जाती हैं। इस समुदाय के पुरुष महिलाओं से वेश्यावृति कराने को जायज़ मानते हैं और पीढ़ी दर पीढ़ी,ये प्रथा चली आ रही है।

    - मां-बाप के द्वारा 12 से 14 साल की होने पर लड़कियों को इस धंधे में धकेल दिया जाता है। यहां तक कि लड़कियों के भाई-पिता उनके लिए कस्टमर लेकर आते हैं। घरों में बाकायदा सिर्फ इसी के लिए एक कमरा रखा जाता है।

    75 गांवों में घृणित कारोबार

    - बांछड़ा समुदाय नीमच-मंदसौर, रतलाम के तकरीबन 75 गांवों में फैली हुई है। इस समुदाय के लगभग 23,000 लोग यहां रहते हैं जिनमें से 65 प्रतिशत महिलाएं हैं।

    - नीमच-मंदसौर हाइवे पर चारपाई पर चमकीले कपड़ों में सजी-धजी और भड़कीला मेकअप किए हुए कई लड़कियां ग्राहकों के इंतजार में बैठी दिख जाती हैं। इनके ज्यादातर कस्टमर ट्रक ड्राइवर या दूसरे गांवों के पुरुष होते हैं। इनसे जो कमाई होती है, उसी से इन महिलाओं के घर चलते हैं।

  • गंदी परंपरा: MP का एक इलाका- यहां बेटी-बहनों से कराई जाती है वेश्यावृत्ति, भाई-पिता लाते हैं ग्राहक
    +1और स्लाइड देखें

    एनजीओ सक्रिय

    - 'नई आभा सामाजिक चेतना समिति’ एनजीओ है। इसके कोऑर्डिनेटर आकाश चौहान ने बताया- इस क्षेत्र में अफीम की खेती भी होती है। लेकिन इसे बांछड़ा कम्युनिटी की वजह से भी पहचाना जाता है। हम इस समुदाय की बेहतरी के लिए काम कर रहे हैं ताकि उन्हें अपनी आजीविका चलाने के लिए इस धंधे में न उतरना पड़े। दरअसल, यह समुदाय घर चलाने के लिए महिलाओं पर ही निर्भर रहा है, इसलिए यहां लड़कियों के जन्म पर खुशियां मनाई जाती हैं।

Topics:
आगे की स्लाइड्स देखने के लिए क्लिक करें
दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | Hindi Samachar अपने मोबाइल पर पढ़ने के लिए डाउनलोड करें Hindi News App, या फिर 2G नेटवर्क के लिए हमारा Dainik Bhaskar Lite App.
Web Title: In This Community Of Madhya Pradesh Daughters & Sisters Are Turned Into Prostitutes For Money
(News in Hindi from Dainik Bhaskar)

More From OMG

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×