अजीब विश्व

--Advertisement--

200 साल से है गुड़ियों का हॉस्पिटल, अंदर का मंजर देख सहम जाते हैं लोग

200 साल पुरानी इस जगह का नाम है हॉस्पिटल ऑफ हॉरर्स।

Danik Bhaskar

Dec 16, 2017, 04:07 PM IST

बच्चों के खेलने वाली गुड़ियों के अस्पताल के बारे में क्या आप जानते हैं? अगर नहीं, तो आपको बता दें कि पुर्तगाल में ऐसा ही एक गुड़ियों का अस्पताल है। यहां बच्चों की गुड़ियों को रिपेयर किया जाता है। 200 साल पुरानी इस जगह का नाम है हॉस्पिटल ऑफ हॉरर्स है। अब आप सोच रहे होंगे कि आखिर बच्चों की गुड़ियों को रिपेयर करने वाली इस जगह को भुतहा क्यों कहा जाता है। ये है इसके पीछे की वजह...

- सन् 1830 में बने गुड़ियों के हॉस्पिटल में सालों से काम जारी है। असल पुर्तगाल में क्रिस्मस के मौके पर टूटी-फूटी गुड़ियों को सुधरवाने की परंपरा है। ऐसी भी परंपरा है, जिसमें दादा-दादी अपने बचपन के खिलौनोे को संभाल कर रखते हैं जिसे वे अपने पोत-पोती को दे सकें। इस वजह से यहां पुर्तगाल की हजारों डाल सुधरने के लिए आती हैं। हालांकि, अंदर का मंजर देखकर लोग सहम जाते हैं।

- असल में यहां सैंकड़ो डॉल्स के बॉडी पार्ट्स जैसे हाथ-पैर, आंखे, चेहरे, बाल हर तरफ बिखरे होते हैं, जिसे देखकर लोगों को यहां डर का अहसास होता है।

पहले होता था यहां ये काम
- सन् 1800 के आसपास इसी जगह पर एक बूढ़ी महिला जड़ी-बूटी बेचा करती थी। ऐसा कहा जाता है कि यहां से गुजरने वाले बच्चों की गुड़िया वो फ्री में सुधार देती थी। कुछ समय बाद इसी जगह के पीछे एक डॉल रिपेयर क्लिनिक शुरू हो गई।

मरीजों की तरह रखते हैं ख्याल
- आपको जानकर हैरानी होगी कि इस डॉल रिपेयर सेंटर को हॉस्पिटल इसलिए कहा जाता है क्योंकि यहां रिपेयरिंग के लिए आने वाली डॉल्स का ख्याल हॉस्पिटल के मरीजों की तरह रखा जाता है।

डॉक्टर्स की तरह पहनते हैं कपड़े
- यहां डॉल्स को रिपेयर करने वाले वर्कर्स डॉक्टर्स की तरह व्हाइट कोट पहनने के साथ रिपेयरिंग के औजार टांगे रखते हैं।

आगे की स्लाइड्स में देखें हास्पिटल और हॉरर के अंदर की फोटोज...

Click to listen..