--Advertisement--

हर दिन दुनिया में होते हैं 1 लाख 25 हजार अबॉर्शन, ये देश हैं आगे

यानी कई देशों में महिलाएं जब चाहें तब अबॉर्शन करा सकती है भले ही गर्भ 9 महीने का क्यों न हो।

Dainik Bhaskar

Jan 23, 2018, 04:18 PM IST
1.25 lakh Abortions Are Performed Daily Worldwide These Countries Are Infamous

वर्ल्ड हेल्थ ऑर्गनाइजेशन की एक रिपोर्ट के मुताबिक दुनिया में हर दिन 1 लाख 25 हजार से भी ज्यादा अबॉर्शन किए जाते हैं। यानी हर साल लाखों गर्भ का जन्म लेने नहीं दिया जाता है। 45 साल पहले 22 जनवरी 1973 अमेरिका में अबॉर्शन को लीगल बना दिया गया था, जिसके बाद कई देशों ने पूरी तरह से लीगल बना दिया। यानी कई देशों में महिलाएं जब चाहें तब अबॉर्शन करा सकती है भले ही गर्भ 9 महीने का क्यों न हो। आज हम आपको बता रहे हैं अमेरिका के अलावा दुनिया के 5 ऐसे देशों के बारे में जो इसी वजह से हैं सबसे ज्यादा बदनाम...

कनाडा में किसी भी महीने में अबॉर्शन लीगल

- कनाडा में प्रेग्नेंसी के किसी भी महीने में अबॉर्शन करवाना लीगल है। 1969 से पहले ऐसा करने पर डॉक्टर के साथ-साथ महिला को भी सजा दी जाती थी। लेकिन 1968-69 में हुए क्रिमिनल लॉ अमेंडमेंट एक्ट के तहत ये बात सामने रखी गई कि कुछ मामलों के आधार पर महिला को अबॉर्शन करवाने की छूट मिलनी चाहिए।

नहीं बन पाया कानून

- 1968-69 में हुए क्रिमिनल लॉ अमेंडमेंट एक्ट के बाद पुराने कानून को निरस्त कर दिया गया। नए कानून के लिए प्रस्ताव लाया गया लेकिन सहमति ना बन पाने की वजह से कोई कानून नहीं बन पाया। जिसका नतीजा ये हुआ कि इस देश में अबॉर्शन को लेकर कोई कानून ही नहीं है। इसी वजह से यहां हर रोज हजारों अबॉर्शन होते हैं। हालांकि, महिला की सेहत का ध्यान रखते हुए ज्यादातर अबॉर्शन शुरूआती महीनों में ही किए जाते हैं। ये फैसला डॉक्टर और महिला द्वारा किया जाता है।

आगे की स्लाइड्स में देखें, अबॉर्शन को लेकर कई देशों के विवादित कानून...

स्विट्जरलैंड में 3 महीने तक अबॉर्शन लीगल। स्विट्जरलैंड में 3 महीने तक अबॉर्शन लीगल।

यहां पहले के 3 महीने तक अबॉर्शन करवाना पूरी तरह लीगल है। अगर महिला को अपनी प्रेग्नेंसी से कोई परेशानी है, तो वो अपनी सहमति से अबॉर्शन करवा सकती है। लेकिन 3 महीने के बाद अगर महिला को किसी तरह की शारीरिक समस्या हो या प्रेग्नेंसी की वजह से महिला को मानसिक परेशानी हो रही हो, तो वो किसी भी महीने में अबॉर्शन करवा सकती है। वैसे इस देश के लोग इतने जागरूक हैं कि अबॉर्शन के काफी कम मामले ही सामने आते हैं।

साउथ अफ्रीका में ऐसा है कानून। साउथ अफ्रीका में ऐसा है कानून।


1 फरवरी, 1997 तक इस देश में अबॉर्शन इलीगल था। लेकिन इसके बाद आए चॉइस ऑन टर्मिनेशन ऑफ प्रेग्नेंसी एक्ट के बाद कई केसेस के अंदर महिलाओं को अबॉर्शन करवाने की परमिशन मिल गई। 13 हफ्ते तक की प्रेग्नेंट महिला बिना वजह बताए भी अबॉर्शन करवा सकती है। लेकिन इसके बाद कई सारे कारण देकर वो अपने बच्चे को गर्भ में मार सकती है। इसमें रेप द्वारा प्रेग्नेंट होने से लेकर आर्थिक स्थिति ठीक ना होना भी शामिल है।

ऑस्ट्रिया में टीनऐजर्स भी करा सकते हैं अबॉर्शन। ऑस्ट्रिया में टीनऐजर्स भी करा सकते हैं अबॉर्शन।

यहां 23 जनवरी, 1974 के बाद से अबॉर्शन को लीगल घोषित कर दिया गया था। पहले 3 महीने तक महिला हॉस्पिटल जाकर अपनी मर्जी से बच्चे को गिरा सकती है लेकिन इसके बाद अगर प्रेग्नेंसी की वजह से महिला को किसी तरह की शारीरिक या मानसिक परेशानी हो रही है, तो वो अबॉर्शन करवा सकती है। इसके अलावा अगर 14 साल से कम उम्र की बच्ची प्रेग्नेंट हो जाती है, तो भी वो 3 महीने के बाद अबॉर्शन करवा सकती है।

फ्रांस में ऐसा है कानून। फ्रांस में ऐसा है कानून।

यहां 12 हफ्ते तक महिलाएं बिना किसी परेशानी के अबॉर्शन करवा सकती हैं। इसके बाद के महीनों में सिर्फ दो आधार पर महिला को ऐसा करने की इजाजत है। पहला, दो डॉक्टर्स ने हेल्थ की समस्या के आधार पर अबॉर्शन करवाने की सलाह दी हो। और दूसरा कि पैदा होने के बाद बच्चे को ऐसी बीमारी का सामना करना पड़ेगा, जिसका इलाज नहीं किया जा सकता। इन दो मामलों में महिलाएं किसी भी समय अबॉर्शन करवा सकती हैं।

1.25 lakh Abortions Are Performed Daily Worldwide These Countries Are Infamous
X
1.25 lakh Abortions Are Performed Daily Worldwide These Countries Are Infamous
स्विट्जरलैंड में 3 महीने तक अबॉर्शन लीगल।स्विट्जरलैंड में 3 महीने तक अबॉर्शन लीगल।
साउथ अफ्रीका में ऐसा है कानून।साउथ अफ्रीका में ऐसा है कानून।
ऑस्ट्रिया में टीनऐजर्स भी करा सकते हैं अबॉर्शन।ऑस्ट्रिया में टीनऐजर्स भी करा सकते हैं अबॉर्शन।
फ्रांस में ऐसा है कानून।फ्रांस में ऐसा है कानून।
1.25 lakh Abortions Are Performed Daily Worldwide These Countries Are Infamous
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..