--Advertisement--

साबुन का झाग हमेशा सफेद ही क्यों होता है?

जब कोई वस्तु पूरी तरह से सूर्य की किरणों को रिफलेक्ट कर देती है तो वो सफेद दिखाई देती है।

Dainik Bhaskar

Feb 07, 2018, 05:43 PM IST
Why Is Soap Lather Always White

हटके डेस्क. साबुन। जिसे हर कोई इस्तेमाल करता होगा। लेकिन क्या कभी सोचा है कि साबुन लाल हो या नीला उसका झाग हमेशा सफेद ही क्यों बनता है? साबुन लगाने के बाद उसका रंग कहां गायब हो जाता है? ये ऐसे सवाल हैं जो शायद ही कभी जहन में आए हों, लेकिन क्या इनके जवाब जानते हैं?

झाग का रंग सफेद क्यों होता है? इसका जवाब जानने के लिए अपने स्कूल की साइंस क्लास याद करिए। जिसमें बड़े सिंपल अंदाज में बताया गया था कि किसी वस्तु का अपना रंग नहीं होता है। वस्तु पर जब प्रकाश की किरणें पड़ती हैं तो वो बाकी रंगों को एब्जॉर्व कर जिस रंग को रिफलेक्ट करती है वही उसका रंग होता है। वही नियम कहता है कि जब कोई वस्तु सभी रंगों को एब्जॉर्व कर लेती है तो वह काली दिखाई देती है। जब कोई वस्तु सभी रंगों को रिफलेक्ट कर देती है तो वो सफेद दिखाई देती है। यही नियम साबुन के झाग पर भी लागू होता है।

छोटे बुलबुलों से मिलकर बनता है झाग
साबुन का झाग कोई ठोस पदार्थ नहीं है। ये सबसे छोटी पानी, हवा और साबुन से मिलकर बनी एक पतली फिल्म होती है। ये पतली फिल्म जब गोल आकार ले लेती है तो हम इसे बुलबुला कहते हैं। दरअसल साबुन का झाग छोटे-छोटे बुलबुलों का समूह होता है।

साबुन के एक बुलबुले में सूर्य की किरणें जाते ही अलग-अलग दिशा में रिफलेक्ट होने लगती हैं। यानी सूर्य की किरणें किसी एक दिशा में न जाने की बजाय अलग-अलग दिशा में बिखर जाती हैं। यही वजह होती है कि साबुन का एक बुलबुला पारदर्शी सतरंगी जैसा दिखाई देता है। आसमान का रंग भी सफेद दिखने की यही वजह है।

झाग बनाने वाले छोटे-छोटे बुलबुले भी इसी तरह के सतरंगी पारदर्शी बुलबुलों से बने होते हैं लेकिन ये इतने बारीक होते हैं कि हम सातों रंगों को नहीं देख पाते हैं। वहीं दूसरी ओर प्रकाश इतनी तेजी से घूमता है कि वो सभी रंगों को परिवर्तित करता रहता है। यानि कोई वस्तु सभी रंगों को परिवर्तित कर दे तो उसका रंग सफेद दिखाई देता है। इसी वजह से साबुन का रंग सफेद दिखाई देता है।

X
Why Is Soap Lather Always White
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..