--Advertisement--

लड़की के चेहरे में लगाने पड़े चार गुब्बारे, डॉक्टर ने बताई ये वजह

चीन में रहने वाली शाओ को बर्थमार्क की वजह से हुई दिक्कत।

Danik Bhaskar | Jan 25, 2018, 02:00 PM IST
शाओ यान शाओ यान

हटके डेस्क. बर्थमार्क कितनी बड़ी परेशानी का सबब बन सकता है उसे चीन की शाओ यान के चेहरे को देखकर समझा जा सकता है। बर्थमार्क की वजह से उन्हें ऐसी दिक्कत हुई की डॉक्टर ने शाओ यान के चेहरे में 4 अंडे के आकार के गुब्बारे इम्प्लांट करने पड़े। शाओ को क्या हुई परेशानी...

चीन के ग्वेजो प्रांत में रहने वाली 23 साल की शाओ के चेहरे पर बचपन से ही काले रंग का एक दाग था। बचपन में तो शाओ को इस दाग से कोई परेशानी नहीं हुई, लेकिन जैसे-जैसे उम्र बढ़ती गई उन्हें दाग की वजह से दर्द होने लगा।

मार्च, 2017 में डॉक्टर को दिखाया

पिछले साल मार्च महीने में जब वो डॉक्टर के पास गईं तो पता चला कि उन्हें कन्जेनिटल मिलानोसिटिक नीवस नाम की बीमारी है। डॉक्टर ने बताया कि पांच लाख लोगों में से किसी एक को यह बीमारी होती है। डॉक्टर को डर था कि इस बीमारी में आगे चलकर कैंसर होने का खतरा रहता है।

डॉक्टर ने इम्प्लांट किए गुब्बारे
कन्जेनिटल मिलानोसिटिक नीवस नाम की बीमारी को बढ़ने से रोकने के लिए डॉक्टर ने शाओ का इलाज किया। उन्होंने शाओ के चेहरे की स्कीन में अंडे आकार के 4 गुब्बारे इम्प्लांट कर दिए। डॉक्टर्स का कहना है कि इससे बर्थमार्क के आसपास की स्किन एक साथ खिंचती है। जिससे धीरे-धीरे बर्थमार्क को छोड़कर स्किन बॉडी के दूसरे हिस्से से जुड़ने लगती है। डॉक्टर ने बताया कि शाओ का इलाज पांच महीने से चल रहा है और इस साल के जून महीने तक वो ठीक हो जाएगी।

क्या है 'कन्जेनिटल मिलानोसिटिक नीवस'
यह बीमारी जन्म के समय से बच्चों में पाई जाती है। इसमें जन्म के वक्त बच्चों के शरीर के किसी भाग में एक तिल दिखता है। जो उम्र के साथ बढ़ता है। ऐसे निशान दुनिया भर में अनुमानित एक परसेंट बच्चों में होता है। ऐसे तिल सबसे ज्यादा सिर और गर्दन में होते हैं।