--Advertisement--

21 दिसंबर और साल के ये 3 दिन हैं खास, सारी दुनिया मनाती है ऐसा जश्न

साल में चार दिन ऐसे होते हैं जिन्हें खगोलिय घटनाओं के अनुसार खास माना जाता है। 21 मार्च और 23 सितंबर को दिन और रात का स

Danik Bhaskar | Dec 20, 2017, 03:32 PM IST
विशेष तरीके से मनाते हैं 21 दिसं विशेष तरीके से मनाते हैं 21 दिसं

साल के चार दिन ऐसे होते हैं जिन्हें खगोलीय घटनाओं के अनुसार खास माना जाता है। ये है 21 दिसंबर जो साल का सबसे छोटा दिन होता है। इसे विंटर सोलस्टाइस के नाम से जाना जाता है। इसके अलावा 21 मार्च और 23 सितंबर को दिन और रात का समय बराबर होता है। 21 जून को साल का सबसे बड़ा दिन होता है। इस दिन सूर्य देर तक धरती पर अपनी किरणों से प्रकाश फैलाता है।

क्यों होता है 21 दिसंबर का दिन सबसे छोटा?

पृथ्वी अपने अक्ष पर साढ़े तेइस डिग्री झुकी हुई है। इस वजह से सूर्य की दूरी पृथ्वी के उत्तरी गोलार्द्ध से ज्यादा हो जाती है। इससे सूर्य की किरणों का प्रसार पृथ्वी पर कम समय तक होता है। 21 दिसंबर को सूर्य दक्षिणायन से उत्तरायण में प्रवेश करता है। इस दिन सूर्य की किरणें मकर रेखा के लंबवत होती हैं और कर्क रेखा को तिरछा स्पर्श करती हैं। इस वजह से सूर्य जल्दी डूबता है और रात जल्दी हो जाती है।

सारी दुनिया मे मनता है ऐसा जश्न

चीन में लोग 21 दिसंबर के दिन को पॉजिटिव एनर्जी का प्रतीक मानते हैं। चीन के अलावा ताइवान में इस दिन लोग ट्रेडिशनल फूड खाना पसंद करते हैं। सिर्फ यही नहीं पाकिस्तान के नॉर्थ वेस्टर्न क्षेत्र में रहने वाली जनजाति कलाशा कैमोस उत्सव मानती है। इस खास दिन को जर्मनी, फ्रांस और इंग्लैंड के कई क्षेत्रों में द फिस्टऑफ जूल फेस्टिवल मनाया जाता है।

ब्रूमालिया के नाम से होता है खास आयोजन

यह रोमवासियों द्वारा मनाए जाने वाला प्राचीन उत्सव है जिसे संपन्नता, खेती और पूर्वजों के सम्मान में सेलिब्रेट किया जाता है। इस उत्सव पर छठवीं शताब्दी में जस्टीनियन शासक ने प्रतिबंध लगाया था।

आगे की स्लाइड्स में देखिए विंटर सोलस्टाइस को दुनिया के अलग-अलग क्षेत्रों में किस तरह सेलिब्रेट किया जाता है...