--Advertisement--

महिलाओं की जिंदगी बर्बाद करने के लिए किया जाता है ये, मौजूद हैं ऐसे कानून

महिलाओं को मारने से लेकर उनका अपहरण करने तक। ऐसी कानून फॉलो किए जाते हैं इन देशों में।

Danik Bhaskar | Nov 23, 2017, 12:00 AM IST

आजकल हर कोई महिलाओं को बराबरी का हक दिलवाने की बात करता नजर आता है। लेकिन दुनियाभर में आज भी कई ऐसे कानून मौजूद हैं, जिन्हें सुन कर ही रोंगटे खड़े हो जाते हैं। कहीं पति अपनी बीवी को डराने के लिए हाथ उठा सकता है तो कहीं पर शादी के बाद महिला का रेप करना लीगल माना जाता है। आज हम आपको ऐसे ही कुछ कानूनों के बारे में बताने जा रहे हैं। महिलाओं के अगेंस्ट 8 सबसे खौफनाक कानून...

- 2016 में पकिस्तान के कॉउंसिल ऑफ इस्लामिक आइडियोलॉजी ने एक बिल पेश किया था। जिसमें ये लिखा था कि अगर बीवी अपने पति की बात नहीं सुन रही या उसकी मंजूरी के बिना कपड़े पहन रही है तो उसका पति उसको सबक सिखाने के लिए उसपर हाथ उठा सकता है। पूरी दुनिया में पाकिस्तान के इस नियम की कड़ी आलोचना की गई थी लेकिन आज भी वहां के संविधान में ये कानून शामिल है।

आगे की स्लाइड्स पढ़ें ऐसी कानूनों के बारे में...

शादी के बाद रेप है लीगल शादी के बाद रेप है लीगल

कई देशों के कानून के तहत शादी के बाद पति अपनी बीवी का रेप कर सकता है। इंडियन लॉ के हिसाब से, अगर बीवी 15 साल से बड़ी उम्र की हो तो पति ऐसा कर सकते हैं। वहीं बहामास में ऐसा 14 साल से बड़ी लड़की के साथ और सिंगापुर में 13 साल की लड़की के साथ किया जा सकता है।

लीगल है किडनैपिंग और रेप लीगल है किडनैपिंग और रेप

लेबनान और माल्टा जैसे देशों में मौजूद कानून के तहत, अगर आदमी महिला को किडनैप या रेप करने के बाद उससे शादी कर ले तो उस आदमी को कोई सजा नहीं मिलेगी।

महिलाओं को पीटना है लीगल महिलाओं को पीटना है लीगल

नाइजीरिया में पति अपनी पत्नी को लीगली मार सकता है। लेकिन पत्नी की बॉडी पर कोई गंभीर चोट नहीं आनी चाहिए।

महिलाएं नहीं ले सकती तलाक महिलाएं नहीं ले सकती तलाक

इजराइल में महिलाएं पति से परेशान हो कर तलाक नहीं ले सकतीं। सिर्फ आदमी ही ऐसा कर सकते हैं।

पति की मर्जी के बिना नहीं जा सकती घर से बाहर पति की मर्जी के बिना नहीं जा सकती घर से बाहर

अफगानिस्तान में महिलाएं पति से बिना पूछे घर से बाहर नहीं निकल सकतीं। ये गैरकानूनी है और पति ऐसा करने पर बीवी को सजा दे सकते हैं। 

सिर्फ लड़के ही बन सकते हैं वारिस सिर्फ लड़के ही बन सकते हैं वारिस

ट्यूनीशिया में बेटे को जहां पूरी विरासत मिलती है। वहीं बेटियों को आधी। भारत में अभी भी जायदाद वगैरह के मामलों में बेटियों को ज्यादा हिस्सदारी नहीं मिल पाई है। ​

पति के हिसाब से काम करेगी महिला पति के हिसाब से काम करेगी महिला

कैमरून और गिन्नी जैसे देशों में पति फैसला करते हैं कि उनकी बीवी क्या नौकरी करेगी। महिलाएं अपनी मर्जी के हिसाब से काम का चुनाव नहीं कर सकतीं।