Hindi News »Khabre Zara Hat Ke »OMG» Cruel Animal Owners Left Their Pets To Die After Torture

कटे गले से फूटी आंखों तक, मस्ती में मालिकों ने किया जानवरों का ऐसा हाल

इन जानवरों के मालिकों ने ही इन्हें टॉर्चर किया लेकिन सजा की जगह आज भी वो आजाद घूम रहे हैं।

dainikbhaskar.com | Last Modified - Nov 13, 2017, 11:28 AM IST

  • कटे गले से फूटी आंखों तक, मस्ती में मालिकों ने किया जानवरों का ऐसा हाल
    +2और स्लाइड देखें
    इस हाल में मिले थे जानवर
    द डेली टेलीग्राफ ने एक रिपोर्ट जारी की है, जिसमें ये कहा गया है कि 2012 के बाद से ऑस्ट्रेलिया में 614 लोगों के ऊपर जानवरों को प्रताड़ित करने का इल्जाम लगा था। जिनमें से मात्र 27 लोगों को ही सजा दी गई। इस रिपोर्ट में ऐसे कई मामले सामने आए हैं, जिनमें जानवरों को उनके मालिकों ने मस्ती में ही काफी टॉर्चर किया गया। किसी ने अपने पालतू जानवर का गला काट दिया तो किसी ने आंखें फोड़ दी। विचलित कर सकती हैं फोटोज...

    ऑस्ट्रेलिया के एनिमल वेलफेयर आर्गेनाईजेशन RSPCA के ऑफिसर एंड्रू क्लेचर्स ने बताया कि जानवरों के साथ होने वाली क्रूरता के सिर्फ एक प्रतिशत मामले ही कोर्ट तक पहुंच पाते हैं। एक मामले का जिक्र करते हुए उन्होंने बताया कि कैसे गौलबर्न में रहने वाले पीटर रियरडन के पास मौजूद कई भेड़ों को बुरे हाल में पकड़ा गया था। इनमें से कई भेड़ों की स्किन निकली हुई थी तो कुछ की आंखें फूटी हुई थी। इन सबके लिए पीटर को मात्र 12 महीने की सजा दी गई। उनपर जानवरों का ध्यान ना रख पाने का चार्ज लगाया गया था।
    आगे देखें हैवानों ने कैसे किया बेजुबान जानवरों को टॉर्चर...
  • कटे गले से फूटी आंखों तक, मस्ती में मालिकों ने किया जानवरों का ऐसा हाल
    +2और स्लाइड देखें
    अपने ही पालतू कुत्ते के गले में इस तरह फंसा दिया था तार
  • कटे गले से फूटी आंखों तक, मस्ती में मालिकों ने किया जानवरों का ऐसा हाल
    +2और स्लाइड देखें
    ऑस्ट्रेलिया के क्लेयरमोंट मीडोज में रहने वाली एक महिला ने अपने लेब्रा डॉग को सड़क पर मरने के लिए छोड़ दिया था। बैले को जब सड़क से उठाया गया, तो वो इतना कमजोर था कि अपना सिर भी नहीं उठा पा रहा था। उसका वजन मात्र 15 किलो था। इस करतूत के लिए महिला पर सिर्फ फाइन लगाया गया।
आगे की स्लाइड्स देखने के लिए क्लिक करें
दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए News in Hindi, Breaking News सबसे पहले दैनिक भास्कर पर |

More From OMG

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×