Hindi News »Khabre Zara Hat Ke News »Do You Know News» See How Humans Disfigured Healthy Dogs Through Forceful Breeding

प्रकृति से छेड़छाड़ का नतीजा हैं ये डॉग्स, जबरदस्ती करवाई गई थी ब्रीडिंग

dainikbhaskar.com | Last Modified - Nov 06, 2017, 01:44 PM IST

सौ साल में कुत्तों की कुछ प्रजातियां ब्रीडिंग के बाद कई तरह की बीमारियों की चपेट में आ चुकी हैं।
  • प्रकृति से छेड़छाड़ का नतीजा हैं ये डॉग्स, जबरदस्ती करवाई गई थी ब्रीडिंग
    +6और स्लाइड देखें
    सौ साल में कुत्तों की कुछ प्रजाति का रूप पूरी तरह बदल दिया गया।
    कुत्तों को इंसान का बेस्ट फ्रेंड माना गया है। अब इनकी ऐसी कई ब्रीड्स आ गई हैं जिन्हें लोग शौक से पालते हैं। कुछ ब्रीड्स की कीमत तो लाखों में भी होती है। लेकिन क्या आप जानते हैं कि जिन ब्रीड्स को लोग शो के लिए पालते हैं, वो आज से सौ साल पहले कैसे दिखते थे? आज हम आपको दिखाने जा रहे हैं सौ साल में कैसे कुछ कुत्तों की नस्ल बिल्कुल बदल गई। जबरदस्ती करवाई गई थी ब्रीडिंग...
    इन कुत्तों की ब्रीडिंग जबरदस्ती करवाई जाती है। रिसर्च के नाम पर इन कुत्तों को काफी टॉर्चर किया जाता है। इन्हीं ब्रीडिंग का नतीजा होता है कि इन कुत्तों की नस्ल अजीबोगरीब हो जाती है। किसी के पैर छोटे हो जाते हैं तो किसी की बॉडी में एक्स्ट्रा बाल आ जाते हैं। आज हम आपको ऐसे ही कुछ कुत्तों की नस्ल की जानकारी देने वाले हैं। साथ ही, आप खुद तस्वीरों के जरिए इनमें आए बदलावों को देख सकते हैं।
    बुल टेरियर

    1800 के दशक में इंग्लिश टेरियर और बुलडॉग की प्रजाति को मिलाकर ये नई प्रजाति बनाई गई थी। इसे लड़ाकू बनाया गया था, क्योंकि उस समय डॉग फाइटिंग का चलन था। आज के समय में बुल टेरियर का मुंह (थूथन) चपटा हो गया है, वहीं इसकी पूंछ भी खड़ी हो गई है।
    आगे देखें कैसे बदली इन नस्लों की सूरत...
  • प्रकृति से छेड़छाड़ का नतीजा हैं ये डॉग्स, जबरदस्ती करवाई गई थी ब्रीडिंग
    +6और स्लाइड देखें
    इंग्लिश बुलडॉग

    कहा जाता है कि इस प्रजाति के कुत्तों के साथ सबसे ज्यादा छेड़छाड़ किया गया है। इसे डॉग फाइटिंग के लिए बनाया गया था। पहले इसका सिर बहुत छोटा था। अब इसकी बॉडी काफी लचीली हो गई है। इसका जबड़ा भी काफी लचीला हो गया है।
  • प्रकृति से छेड़छाड़ का नतीजा हैं ये डॉग्स, जबरदस्ती करवाई गई थी ब्रीडिंग
    +6और स्लाइड देखें
    पग्स

    इन्हें चीनी कुत्तों हप्पा डॉग्स से बनाया गया था और इन्हें डच मस्टिफ्स कहा जाता था। बाद में इन्हें दूसरे छोटे कुत्तों के साथ ब्रीड करवाया गया था। लेकिन अब इसकी नयी प्रजाति को हाई ब्लड प्रेशर की समस्या, दिल की प्रॉब्लम, सांस लेने में दिक्कत जैसी परेशानियों का सामना करना पड़ता है।
  • प्रकृति से छेड़छाड़ का नतीजा हैं ये डॉग्स, जबरदस्ती करवाई गई थी ब्रीडिंग
    +6और स्लाइड देखें
    जर्मन शेफर्ड
    पहले इस प्रजाति के डॉग्स का पेट काफी अंदर हुआ करता था और ये काफी तेज-तर्रार हुआ करते थे। लेकिन अब इनका वजन इतना ज्यादा हो गया है कि ये काफी आलसी हो गए हैं।
  • प्रकृति से छेड़छाड़ का नतीजा हैं ये डॉग्स, जबरदस्ती करवाई गई थी ब्रीडिंग
    +6और स्लाइड देखें
    डचशंड्स

    इस प्रजाति के कुत्तों की खासियत इनका लंबा गला और इनके मजबूत पैर हुआ करते थे। लेकिन इंसानों ने इन्हें बुरी तरह बदल दिया है। अब इनकी पीठ काफी लंबी हो गई है और इनके पैर काफी छोटे। इस प्रजाति के कुत्तों को रीढ़ की हड्डी की समस्या भी आने लगी है।
  • प्रकृति से छेड़छाड़ का नतीजा हैं ये डॉग्स, जबरदस्ती करवाई गई थी ब्रीडिंग
    +6और स्लाइड देखें
    बॉक्सर्स
    कुत्तों की ये प्रजाति मैस्टिफ, बुलडॉग ग्रेट डेन और टेरियर को मिलाकर बनाई गई थी। इसे पुराने समय में कसाइयों द्वारा पाला जाता था। लेकिन अब इस प्रजाति को इतना बिगाड़ दिया गया है कि इनमें कई तरह की बीमारियां पाई जाने लगी हैं। इनके मुंह जहां बड़े हो गए हैं, वहीं इनके थूथन काफी छोटे हो गए हैं।
  • प्रकृति से छेड़छाड़ का नतीजा हैं ये डॉग्स, जबरदस्ती करवाई गई थी ब्रीडिंग
    +6और स्लाइड देखें
    बेसेट हाउंड्स

    जब तक इस प्रजाति के साथ इंसानों ने छेड़छाड़ नहीं की थी, तब तक इसके कान छोटे थे, चेहरा कम लटका हुआ था और पीठ पर कर्व्स भी थे। लेकिन ब्रीडिंग के बाद इस प्रजाति के कुत्तों की बॉडी में प्रोटीन की मात्रा बढ़ गई, जिस कारण इसके कान लंबे और पैर छोटे हो गए हैं।
आगे की स्लाइड्स देखने के लिए क्लिक करें
दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | Hindi Samachar अपने मोबाइल पर पढ़ने के लिए डाउनलोड करें Hindi News App, या फिर 2G नेटवर्क के लिए हमारा Dainik Bhaskar Lite App.
Web Title: See How Humans Disfigured Healthy Dogs Through Forceful Breeding
(News in Hindi from Dainik Bhaskar)

Stories You May be Interested in

      रिजल्ट शेयर करें:

      More From Do You Know

        Trending

        Live Hindi News

        0
        ×