पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

दुनिया में मौजूद है ऐसा अनोखा गांव, जहां सोने के बाद महीनों तक नहीं उठते लोग

4 वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक
दुनिया कई तरह के रहस्यों से भरी पड़ी है। ऐसी कई चीजें हैं, जिनका जवाब आज तक कोई नहीं दे पाया है। वैज्ञानिक भी ऐसी कई रहस्यमयी पहेलियों का जवाब ढूंढते हुए थक जाते हैं। कुछ ऐसा ही रहस्य छिपा है कजाकिस्तान के एक अनोखे गांव में। यहां के लोग कई-कई दिनों तक सोते रहते हैं।  सब कहते हैं कुम्भकर्ण के रिश्तेदार... 
 
उत्तरी कजाकिस्तान के कलाची गांव के लोग रहस्यमयी तरीके से सोने की बीमारी से पीड़ित हैं। जब ये लोग एक बार सो जाते हैं तो कई दिनों और महीनों तक नहीं उठते। इस कारण से बाहर एक लोग यहां के निवासियों को कुम्भकर्ण के रिश्तेदार कहते हैं। कलाची गांव से कई दिनों तक सोने का पहला मामला साल 2010 में सामने आया था। कुछ बच्चे अचानक स्कूल में गिर गए थे और सोने लगे थे। इसके बाद इस बीमारी के शिकार लोगों की संख्या बढ़ने लगी। तभी से वैज्ञानिक इस गांव पर रिसर्च कर रहे हैं। 

वैसे कई वैज्ञानिक और डॉक्टर्स इस बीमारी पर रिसर्च कर रहे हैं, पर अभी तक इसका सही कारण उनको भी नहीं पता चल पाया है। वहीं कुछ डॉक्टर्स का कहना है की ये सब प्रदूषित पानी की वजह से हो रहा है। रहस्यमयी तरीके से सोने की वजह से इस गांव को Sleepy Hollow भी कहा जाने लगा है।
 
अजीबोगरीब है ये बीमारी 
ये रहस्यमयी गांव उत्तरी कजाकिस्तान में है। यहां की आबादी करीब 600 है और इस बीमारी से गांव के लगभग 14% लोग पीड़ित हैं। इस गांव के लोगों की सबसे ज्यादा चौंकाने वाली बात ये है की जिनको भी ये बीमारी है उनको पता ही नहीं चलता की वो सो गए हैं। मतलब ये लोग कहीं भी सोते हुए पाए जाते हैं, जैसे मार्केट, स्कूल, सड़कों, पार्कों कहीं भी इनको नींद आ जाती है और ये कई दिनों तक के लिए सो जाते हैं। 
 
ये हो सकती है वजह 
कजाकिस्तान का यह गांव यूरेनियम की बंद हो चुकी खदान के पास स्थित है। जिसमें से जहरीला रेडिएशन होता रहता है। कई लोगों के मुताबिक शायद इस खदान की वजह से ही लोगों को ऐसी अजीब बीमारी हुई है। वैसे गांव में रेडिएशन की कोई खास मात्रा नहीं है। वहीं डॉक्टर्स भी इसके लिए रेडिएशन को जिम्मेदार नहीं मानते हैं। 

आगे की स्लाइड्स में देखिए गांव की अन्य फोटोज...