हेल्थ एंड ब्यूटी

--Advertisement--

दिखने लगे 5 संकेत तो समझ लें हमारा दिमाग हो रहा है कमजोर, न करें इन्हें ignore

अमेरिका के साइक्रेटिक और न्यूरोसाइंटिस्ट डॉ डेनियल 5 संकेतों के बारे में बता रहे हैं जिनको हमें इग्नोर नहीं करना चाहिए

Danik Bhaskar

Jan 23, 2018, 12:08 AM IST

यूटिलिटी डेस्क। दिमाग भी बॉडी के दूसरे पार्ट की तरह है। अगर आप इसे हेल्दी और अच्छी वर्किंग कंडीशन में रखना चाहते हैं तो आपको हेल्दी लाइफस्टाइल अपनानी होगी। जब हमारा दिमाग ठीक से काम नहीं करता या कमजोर होने लगता है तो हमें कुछ सिगनल्स भेजता है। जिन्हें हमें इग्नोर नहीं करना चाहिए। मेमोरी लॉस पहला संकेत है। जिसको देखकर हमें समझना चाहिए कि ब्रेन हेल्द को अटेंशन की जरूरत है। अमेरिका के साइक्रेटिक और न्यूरोसाइंटिस्ट डॉ डेनियल यहां आपको ऐसे ही 5 संकेतों के बारे में बता रहे हैं जिनको हमें इग्नोर नहीं करना चाहिए।

इम्प्लसिव होकर भी ठीक से काम नहीं कर पाना
अगर आवेगशील होकर भी ठीक से काम नहीं कर पा रहे और जिस काम का या चीजों को करने के बाद आप रिग्रेट करते हैं तो इस बात की पॉसिबिल्टीज हैं कि आपका दिमाग ठीक से काम नहीं कर रहा है। यह दिमाग में चोट आने की वजह से भी हो जाता है। मनोभ्रंश का एक शुरुआती लक्षण हो सकता है। ये सभी स्थितियां मस्तिष्क के प्रीफ्रैंटल कॉर्टक्स (मस्तिष्क के सोच और निर्णय लेने वाले भाग) के कार्य को प्रभावित कर सकती हैं। इस पर ध्यान देने की जरूरत है।

आगे की स्लाइड्स पर जानिए दूसरे संकेतों के बारे में...

एनर्जी लेवल कम होना
जब आपका दिमाग हेल्दी होता है तो वो आपके कामों की जरूरत के लिए एनर्जी प्रोड्यूस करता है। लेकिन हम अपनी कुछ बुरी आदतों के चलते इस एनर्जी को खत्म कर लेते हैं। अत्यधिक शुगर, प्रोसेस्ड फूड और अनहेल्दी फैट, एल्कोहल, एक्सरसाइज न करना ये सभी आदतें ब्रेन पर निगेटिव इफेक्ट्स डालते हैं। 

 

हमेशा स्ट्रेसफुल और टेंशन में रहना 
हमेशा चिंता में रहना आपकी हेल्द को खराब करता है। ज्यादा स्ट्रेस होने पर बॉडी कॉर्टिसोल हार्मोन का प्रोडक्शन शुरू कर देती है। लगातार इस हार्मोन का बनना बॉडी और ब्रेन दोनों के लिए हार्मफुल होता है। अगर आपके साथ ऐसा हो रहा है तो डॉक्टर से कंसल्ट करें। 

 

हमेशा लो फील करना 
ऐसा कभी-कभी होता है जब हम लो फील करते हैं। लेकिन अगर आप हमेशा लो फील कर रहे हैं तो इसका मतलब है कि आपके ब्रेन को एडिशनल सपोर्ट की जरूरत है। अगर आप इसे ठीक करने के लिए कोई प्रॉपर स्टेप लेते हैं तो आपका मूड ठीक रहने के साथ ही हेल्द भी ठीक रहेगी। 
 

10 साल पुरानी बातें याद न रहना 
ऐसा माना जाता है कि उम्र बढ़ने के साथ मेमोरी लॉस होने के प्रॉब्लम्स बढ़ती जाती हैं। अगर आपका दिमाग ठीक है तो आपको कितनी भी पुरानी चीजें याद रहेंगी। थोड़ा बहुत असर उम्र का मेमोरी पर होता है जितना कि स्किन पर होता है।  

 

Click to listen..