--Advertisement--

ऐसे लोगों को नहीं करवाना चाहिए हेयर ट्रांसप्लांट, जानिए इसके 6 साइड इफेक्ट

आइए जानते हैं हेयर ट्रांसप्लांट के 6 साइड इफेक्ट जिनका ध्यान रखना चाहिए।

Dainik Bhaskar

Nov 16, 2017, 02:41 PM IST
Side effects of hair transplant

गंजेपन को खत्म कराने के लिए आजकल हेयर ट्रांसप्लांट का चलन जोरों पर है। 1 से 2 लाख रुपए के खर्च के भीतर लोग गंजेपन से निजात पा रहे हैं। पहले केवल सेलेब्रिटी ही हेयर ट्रांसप्लांट करवाया करते थे लेकिन अब ये तरीका सस्ता और सुलभ होने के कारण आम आदमी की पहुंच में आ गया है।

लेकिन इसके फायदे के साथ साथ ऐसे साइड इफेक्ट भी हैं जो सेहत के साथ साथ जान के लिए भी खतरनाक साबित हो सकता है। आइए जानते हैं हेयर ट्रांसप्लांट के 6 साइड इफेक्ट जिनका ध्यान रखना चाहिए।

हेयर ट्रांसप्लांट के 6 साइड इफेक्ट

1. डायबिटीज यानी मधुमेह के रोगियों को हेयर ट्रांसप्लांट नहीं करवाना चाहिए। इतना ही नहीं हाई बीपी के मरीज व्यक्ति को भी हेयर ट्रांसप्लांट से बचना चाहिए क्योंकि इन दोनों ही रोगों में एनेस्थीसिया देना जानलेवा हो सकता है।

2. मेटाबॉलिक डिसआर्डर वाले मरीज को भी हेयर ट्रांसप्लांट नहीं करवाना चाहिए क्योंकि हेयर ग्राफ्टिंग के दौरान आने वाली चुनौतियां उसके लिए खतरनाक साबित हो सकती है। इस प्रक्रिया में छह से सात घंटे तक बेहोश रखा जाता है और ऐसे में इस बीमारी के मरीज की जान पर बन सकती है।

3. एलर्जी की दवा लेने वाले मरीजों को भी हेयर ट्रांसप्लांट नहीं करवाना चाहिए। दरअसल इस सर्जरी के दौरान कई तरह के कॉप्लिकेशन होते हैं औऱ एनेस्थीसिया के साथ साथ मरीज को जख्म सूखने की कई दवाएं भी दी जाती हैं। ये दवाएं एलर्जी से पीड़ित मरीज के लिए खतरनाक हो सकती हैं, इसलिए एलर्जी या एलर्जी की दवा ले रहे लोगों को हेयर ट्रांसप्लांट नहीं करवाना चाहिए।

4. ऐसे रोगी जिनके ह्रदय में पेसमेकर लगा है या अन्य कोई आर्टिफिशियल उपकरण लगा है, इन्हें भी हेयर ट्रांसप्लांट का रिस्क लेने से बचना चाहिए। इस ऑपरेशन के दौरान दिया जाने वाला एनेस्थीसिया और ग्राफ्टिंग की प्रक्रिया ह्रदय रोगियों के लिए जानलेवा साबित हो सकती है।

5. अनुभवहीन डॉक्टर या लोकल क्लीनिक में हेयर ट्रांसप्लांट करवाने से बचना चाहिए। ध्यान रखें हेयर ट्रांसप्लांट की सर्जरी करने वाला सर्जन कम से कम तीन साल का अनुभव ले चुका हो और वो इस फील्ड का विशेषज्ञ हो।

6. हेयर ट्रांसप्लांट करवाने से पहले सुनिश्चित कर लें कि जिस अस्पताल या क्लीनिक से हेयर ट्रांसप्लांट करवा रहे हैं वहां कुशल डाक्टर और एमरजेंसी सेवाएं हैं या नहीं। कहीं डॉक्टर अपने स्टाफ से हेयर ट्रांसप्लांट तो नहीं करवा रहा। ओटी में सभी सुविधाओं का पूरा ब्योरा मांग लें और उसके बाद ही हेयर ट्रांसप्लांट करवाएं।

यह भी पढ़े :

X
Side effects of hair transplant
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..