--Advertisement--

ये कंपनी 10 हजार लोगों को देगी नौकरी, सैलरी 5 अंकों से शुरू

जर्मन कंपनी Bosch अगले कुछ सालों में 10 हजार से भी ज्यादा इंजीनियर्स को हायर करने का प्लान बना रही है।

Danik Bhaskar | Feb 09, 2018, 12:05 PM IST

यूटिलिटी डेस्क। जर्मन कंपनी Bosch अगले कुछ सालों में 10 हजार से भी ज्यादा इंजीनियर्स को हायर करने का प्लान बना रही है। वो भारत में रिसर्च एंड डेवलपमेंट सेंटर बना रही है, जहां पर फ्यूचरिस्टिक टेक्नोलॉजी जैसे इंटरनेट से जुड़ी चीजों पर काम करेगी। कंपनी के इंडिया प्रेसिडेंट सौमित्र भट्टाचार्य ने बताया कि कंपनी भारत में 500 करोड़ रुपए का इनवेस्टमेंट करेगी। इसके अलावा 800 करोड़ रुपए अगले दो सालों में यहां के लोकल ऑपरेशन जैसे R&D और डेवलप प्रोजेक्ट्स पर खर्च करेगी।

# मोबिलिटी सॉल्यूशन पर फोकस

सौमित्र भट्टाचार्य ने कहा है कि कंपनी यहां पर बड़ा अमाउंट खर्च करने जा रही है। कंपनी का फोकस मोबिलिटी सॉल्यूशन पर रहेगा, क्योंकि हमें लगता है कि इस एरिया में बेहतर फ्यूचर है। इन दिनों कार को घर और ऑफिस के अलावा तीसरा लिविंग स्पेस माना जाता है। ऐसे में Bosch ऐसी कनेक्टेड, ऑटोमैटेड और शेयर्ड व्हीकल बनाएगी। Bosch इंडिया का दूसरा बड़ा R&D सेंटर को ऑपरेट करेगी। इसके साथ ये जर्मन कंपनी बैटरी के लिए इलेक्ट्रिक मोबिलिटी प्रोग्राम पर भी काम करेगी।

# इन चीजों पर भी फोकस

कंपनी के चीफ टेक्‍नोलॉजी ऑफिसर जेन ओलिवर रोहरल ने बताया कि इंटरनल कॉम्बियूशन इंजन, गैसोलिन, CNG और इथेनॉल लंबे समय तक चलने वाले हैं। ये इंजन की इफिसिएंसी को इम्प्रूव भी करते हैं। ऐसे में इस एरिया पर कंपनी का फोकस होगा। Bosch के मुताबिक दुनियाभर में मौजूद व्हीकल के सिर्फ 10% में ही शुद्ध EVs है। 2020 में भारत स्टेज VI उत्सर्जन नियमों का इम्पिलिमेंट हो जाएगा और RDE (Real time Driving Emission) के नियमोंं के बाद भारत में उत्सर्जन मानकों में काफी सुधार होगा।