--Advertisement--

फास्ट चार्जिंग से फोन बैटरी फटने से बचाने तक, ये हैं Airplane मोड के 5 फायदे

एंड्रॉइड हो या आईफोन, इन दोनों में एयरप्लेन मोड फीचर जरूर होता है।

Danik Bhaskar | Jan 27, 2018, 12:02 AM IST

यूटिलिटी डेस्क। एंड्रॉइड हो या आईफोन, इन दोनों में एयरप्लेन मोड फीचर जरूर होता है। हालांकि, ज्यादातर यूजर इस बात को नहीं जानते कि इस फीचर का यूज क्या होता है। यानी इसे ऑन करने से क्या होगा? दरअसल, एयरप्लेन मोड को एयर मोड भी कहा जाता है। इस फीचर की मदद से फोन को फास्ट चार्ज किया जा सकता है। वहीं, फोन पर आने वाले एड को भी ब्लॉक किया ज सकता है। इस फीचर का यूज कैसे किया जाता है, हम यहां बता रहे हैं।

# एयरप्लेन ऑन करने से क्या होगा?

सबसे पहले ये जान लीजिए कि एयरप्लेन मोड होता है। दरअसल, इस मोड को ऑन करने से फोन के नेटवर्क चले जाए हैं। यानी फोन ऑफलाइन मोड में आ जाता है। इसका यूज फोन के नेटवर्क को रीसेट करने के लिए भी किया जाता है। जैसे ही इसे ऑन करते हैं फोन के बैकग्राउंड में चलने वाले सभी ऐप्स बंद हो जाते हैं। यदि कोई ऐप्स इंटरनेट की मदद चल रहा है तब वो भी बंद हो जाएगा।

# एयरप्लेन मोड के बेनीफिट

1. एड से छुटकारा

प्ले स्टोर से जो भी गेम डाउनलोड किया जाते हैं उनमें ज्यादातर एड आते हैं। जिसके चलते गेमिंग का मजा खराब होता है। ऐसे में यदि फोन का एयरप्लेन मोड ऑन किया जाए तब एड आना बंद हो जाएंगे। हालांकि, इसके लिए डाटा भी बंद किया जा सकता है, लेकिन कॉलिंग परेशान कर सकती है।

आगे की स्लाइड्स पर जानिए एयरप्लेन मोड से जुड़े ऐसे ही अन्य फायदे...

2. वाई-फाई का यूज

 

एयरप्लेन मोड ऑन करने पर वाईफाई भी काम करता है। इसका बड़ा फायदा है कि फोन नेटवर्क जाने से आपके पास कोई मैसेज या कॉल नहीं आएगा, लेकिन वाई-फाई की मदद से इंटरनेट चल सकते हैं। यानी ऐप्स का यूज, ईमेल, वॉट्सऐप, फेसबुक या अन्य इंटरनेट से जुड़े काम कर सकते हैं।

 

3. फोन की फास्ट चार्जिंग

 

एयरप्लेन मोड ऑन करने से फोन को फास्ट चार्ज किया जा सकता है। दरअसल, नॉर्मल फोन को चार्ज होने में करीब 2 घंटे का वक्त लग जाता है। ऐसा इसलिए होता है क्योंकि सभी ऐप्स काम करते हैं जिसके चलते वो भी बैटरी कंज्यूम करते हैं। ऐसे में जब प्लेन मोड ऑन कर दिया जाता है तो फोन ऑफलाइन मोड में चला जात है और चार्जिंग टाइम लगभग आधा हो जाता है।

 

 

4. ब्लूटूथ का यूज

 

एयरप्लेन मोड ऑन करने पर ब्लूटूथ का यूज किया जा सकता है। यानी आपको ब्लूटूथ से कोई डाटा शेयर करना है या फिर ब्लूटूथ कनेक्टिविटी पर कोई दूसरा काम करना है तब आसानी से हो सकता है। इतना ही नहीं, ब्लूटूथ कॉलिंग ऐप की मदद से आप दो फोन के बीच एक फिक्स रेंज में बात भी की जा सकती है।

 

 

5. प्लेन में ट्रैवल करते समय

 

एयरप्लेन मोड को खासतौर से प्लेन में ट्रैवल के लिए बनाया गया है। आप जब भी प्लेन में जाते हैं तब एयरप्लेन मोड को हमेशा ऑन कर लेना चाहिए। दरअसल, प्लेन में नेटवर्क आना बंद हो जाते हैं और फोन लगातार नेटवर्क सर्च करता है। जिसके चलते बैटरी तेजी से गर्म होती है और उसके ब्लास्ट होने की संभावना भी बन जाती है। ऐसे में एयरप्लेन मोड को हमेशा ऑन करना चाहिए।