--Advertisement--

स्मार्टफोन के की-बोर्ड में छुपी हैं ये Trick, आपने पहले नहीं की होगी Use

की-बोर्ड से जुड़े इस ऐप का नाम LaunchBoard है। यूजर इस गूगल प्ले स्टोर से फ्री में इन्स्टॉल कर सकते हैं।

Danik Bhaskar | Nov 15, 2017, 07:01 PM IST

गैजेट डेस्क। एंड्रॉइड फोन में गूगल का बिल्ट-इन की-बोर्ड होता है। इसमें अंग्रेजी और हिंदी के साथ कई रीजनल भाषाएं लिखने का भी विकल्प होता है। साथ ही, यूजर इसमें स्वाइप और वॉइस कमांड से भी टाइपिंग कर सकता है। वैसे, एक फ्री एंड्रॉइड ऐप ऐसा भी है, जो की-बोर्ड के एक्सपीरियंस को और बेहतर कर देता है। खास बात है कि टाइपिंग के लिए गूगल की-बोर्ड की सेटिंग को ये रिप्लेस नहीं करता, लेकिन ऐप और कॉन्टैक्ट सर्च को ये आसान बना देता है। ये आपके फोन स्क्रीन पर हमेशा एविलेबल रहेगा। जिससे फोन में नए तरह का इंटरफेस नजर आएगा।

# ऐप का नाम और डिटेल

- की-बोर्ड से जुड़े इस ऐप का नाम LaunchBoard है। यूजर इस गूगल प्ले स्टोर से फ्री में इन्स्टॉल कर सकते हैं।
- इस ऐप का साइज 9MB है। यानी फोन में छोटे से स्पेस में इसे इन्स्टॉल किया जा सकता है।
- यूजर इसे विजेट्स की मदद से फोन की होम स्क्रीन पर ला सकता है। जिससे ऐप और कॉन्टैक्ट सर्च का काम होता है।
- इस ऐप को अब तक 10 हजार से ज्यादा बार इन्स्टॉल किया गया है।
- प्ले स्टोर पर यूजर ने इसे 5 में से 4.7 स्टार रेटिंग दी है।

आगे की स्लाइड्स पर जानिए ये ऐप कैसे करता है काम?...

LaunchBoard ऐप को पहली बार ओपन करने से पर इसे यूज करने के टिप्स के बारे में बताया जाता है। ऐप को फोन की स्क्रीन पर लाने के लिए विजेट्स में जाकर उसे स्क्रीन पर ड्रैग कर सकते हैं। LaunchBoard ऐप को पहली बार ओपन करने से पर इसे यूज करने के टिप्स के बारे में बताया जाता है। ऐप को फोन की स्क्रीन पर लाने के लिए विजेट्स में जाकर उसे स्क्रीन पर ड्रैग कर सकते हैं।
अब ये की-बोर्ड स्क्रीन पर दिखाई देने लगता है। अब आप की-बोर्ड पर किसी भी अल्फाबेट को टाइप करेंगे तो उससे जुड़े ऐप्स और कॉन्टैक्ट आ जाते हैं। यहां हमने P टाइप किया है, तो उससे जुड़े ऐप्स नजर आ रहे हैं। अब ये की-बोर्ड स्क्रीन पर दिखाई देने लगता है। अब आप की-बोर्ड पर किसी भी अल्फाबेट को टाइप करेंगे तो उससे जुड़े ऐप्स और कॉन्टैक्ट आ जाते हैं। यहां हमने P टाइप किया है, तो उससे जुड़े ऐप्स नजर आ रहे हैं।
की-बोर्ड में दी गई सेटिंग से यूजर ऐप्स या कॉन्टैक्ट में से कोई एक या दोनों को सिलेक्ट कर सकता है। यहां हमने दोनों सिलेक्ट की, जिसके बाद P को एक बार फिर टाइप किया। अब सर्चिंग लिस्ट में ऐप्स के साथ कॉन्ट्रैक्ट भी आ रहे हैं। की-बोर्ड में दी गई सेटिंग से यूजर ऐप्स या कॉन्टैक्ट में से कोई एक या दोनों को सिलेक्ट कर सकता है। यहां हमने दोनों सिलेक्ट की, जिसके बाद P को एक बार फिर टाइप किया। अब सर्चिंग लिस्ट में ऐप्स के साथ कॉन्ट्रैक्ट भी आ रहे हैं।