Hindi News »Lifestyle »Travel» Benefits Of Indian Railways Rs.10 Lakh Travel Insurance

ट्रेन में हर यात्री को सिर्फ 92 पैसे देकर मिलता है 10 लाख रु. तक का इंश्योरेंस

ट्रेन में सफर के दौरान आप 1 रुपए से भी कम में ट्रेवल इंश्योरेंस ले सकते हैं।

dainikbhaskar.com | Last Modified - Feb 23, 2018, 01:11 PM IST

  • ट्रेन में हर यात्री को सिर्फ 92 पैसे देकर मिलता है 10 लाख रु. तक का इंश्योरेंस
    +1और स्लाइड देखें

    यूटिलिटी डेस्क।ट्रेन में सफर के दौरान आप 1 रुपए से भी कम में ट्रेवल इंश्योरेंस ले सकते हैं। जी हां, रेलवे सिर्फ 92 पैसे में 10 लाख रुपए तक का इंश्योरेंस कवर देता है। यह फेसिलिटी सभी यात्रियों के लिए है। हालांकि पैसेंजर को इसे लेने या नहीं लेने का ऑप्शन मिलता है।

    मौत होने पर 10 लाख तक का कवर
    इंश्योरेंस लेने वाले किसी यात्री की यदि रेल दुर्घटना में मौत हो जाती है तो उसके नॉमिनी या लीगल उत्तराधिकारी को 10 लाख रुपए तक का कवर इस स्कीम के तहत दिया जाता है। वहीं यदि दुर्घटना में किसी तरह की शारीरिक अक्षमता आ जाती है तो 7.5 लाख रुपए तक का कवर इसमें मिलता है। थोड़ा-बहुत शारीरिक नुकसान पहुंचा है तो इसमें 2 लाख रुपए तक का कवर है।

    सिर्फ ऑनलाइन टिकट पर ही लागू है स्कीम
    यह स्कीम सिर्फ ऑनलाइन टिकट बुक करने पर ही लागू होती है। IRCTC की वेबसाइट से टिकट बुक करने पर पेमेंट होने के पहले इंश्योरेंस लेने का ऑप्शन पैसेंजर को मिलता है एक्सीडेंटल कवरेज सिर्फ ट्रैवल टाइम के लिए होता है। इंश्योरेंस लेने पर नॉमिनी की सही डिटेल भरना न भूलें।

    4 माह के अंदर करना होता है क्लेम, देखिए अगली स्लाइड में...

  • ट्रेन में हर यात्री को सिर्फ 92 पैसे देकर मिलता है 10 लाख रु. तक का इंश्योरेंस
    +1और स्लाइड देखें

    कब कर सकते हैं क्लेम


    > ट्रेन में यदि कोई ऐसे हादसे का शिकार होता है तो उसके नॉमिनी को एक्सीडेंट होने के 4 माह के अंदर-अंदर इंश्योरेंस कंपनी को इस बारे में बताना होगा। क्लेम एनईएफटी के जरिए मिलेगा। फ्रॉड से जुड़ा कुछ भी मामला हुआ तो इंश्योरेंस के तहत कोई फायदा संबंधित यात्री को नहीं मिलेगा।

    5 साल तक के बच्चों के लिए नहीं


    > यह स्कीम 5 साल तक के बच्चों और फॉरेन सिटीजन के लिए नहीं है। हालांकि कंफर्म के साथ ही आरएसी और वेटिंग लिस्ट वाले पैसेंजर्स भी इस इंश्योरेंस को ले

    सकते हैं। कस्टमर को पॉलिसी इंफॉर्मेशन एसएमएस के जरिए मिलती है। पॉलिसी नंबर टिकट बुकिंग हिस्ट्री में देखी जा सकती है। टिकट बुकिंग के बाद इंश्योरेंस

    कंपनी की वेबसाइट पर नॉमिनेशन डिटेल्स डालना होती है। यदि नॉमिनेशन डिटेल्स नहीं डाली गई है तो फिर लीगल उत्तराधिकारी को क्लेम मिलता है।

आगे की स्लाइड्स देखने के लिए क्लिक करें
दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | Hindi Samachar अपने मोबाइल पर पढ़ने के लिए डाउनलोड करें Hindi News App, या फिर 2G नेटवर्क के लिए हमारा Dainik Bhaskar Lite App.
Web Title: Benefits Of Indian Railways Rs.10 Lakh Travel Insurance
(News in Hindi from Dainik Bhaskar)

More From Travel

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×