--Advertisement--

भारतीयों के लिए बुरी खबर, सख्त हो गए अमेरिकी H-1B वीजा के नियम, अब होगा ऐसा

डोनाल्ड ट्रम्प एडमिनिस्ट्रेशन ने H-1B वीजा लेने को और ज्यादा टफ कर दिया है।

Danik Bhaskar | Feb 24, 2018, 02:06 PM IST

यूटिलिटी डेस्क। डोनाल्ड ट्रम्प एडमिनिस्ट्रेशन ने H-1B वीजा लेने को और ज्यादा टफ कर दिया है। कंपनियों के साथ ही किसी इनडिविजुअल के लिए भी अब यह आसान नहीं रहा। अमेरिकी सरकार की नई नीति के तहत यह साबित करना होगा कि एक या एक से अधिक स्थानों पर जॉब-वर्क के काम के लिए इस वीजा पर बुलाए जा रहे इम्प्लॉई का काम विशिष्ट प्रकार का है और उसे खास जरूरत के बुलाया जा रहा है। यदि कोई H-1B वीजा ले भी लेता है तो यह कंफर्म नहीं है कि वीजा पूरे तीन सालों के लिए मान्य होगा।

हाई स्किल्ड लोगों को दिया जाता है
H-1B वीजा ऐसे हाई स्किल्ड इम्प्लॉई को दिया जाता है जिसके पास खास हुनर हो और अमेरिका में ऐसे इम्प्लॉई की कमी हो। साधारण काम करने वाले इम्प्लॉई को H-1B वीजा नहीं मिलता।

भारतीय सबसे ज्यादा लेते हैं, देखिए अगली स्लाइड में...