Hindi News »Lifestyle »Wellness» Changes In Provident Fund Rules

अब सिर्फ 1 फॉर्म से निकल जाती है PF की राशि

राशि की निकासी के लिए 10 तरह के फॉर्म नहीं भरना होते बल्कि एक ही (कम्पोजिट फॉर्म) के जरिए विदड्रॉअल हो जाता है

dainikbhaskar.com | Last Modified - Feb 14, 2018, 01:25 PM IST

  • अब सिर्फ 1 फॉर्म से निकल जाती है PF की राशि
    +1और स्लाइड देखें

    यूटिलिटी डेस्क।कर्मचारी भविष्य निधि संगठन (EPFO) प्रोविडेंट/ पेंशन फंड विदड्रॉअल के नियमों को काफी आसान कर चुका है। अब जिन लोगों का EPFO में पैसा कटता है, उन्हें राशि की निकासी के लिए 10 तरह के फॉर्म नहीं भरना होते बल्कि एक ही (कम्पोजिट फॉर्म) के जरिए विदड्रॉअल हो जाता है। अग्रिम राशि निकाल रहे हैं तो मैरिज इन्विटेशन कार्ड जैसे डॉक्युमेंट्स लगाने की जरूरत भी अब नहीं होती।

    ईपीएफओ (जबलपुर) के प्रवक्ता शिवेंद्र खम्परिया कहते हैं कि सब्सक्राइबर के आधार कार्ड में जो मोबाइल नंबर है, वो एक्टिवेट होना चाहिए। इसी नंबर पर ओटीपी आता है। यदि यह नंबर एक्टिवेट नहीं है तो फिर फोन के जरिए सुविधाएं नहीं मिल सकती। आज हम पीएफ से जुड़े नियमों की जानकारी आपको दे रहे हैं।

    > ऐसे सब्सक्रइार्ब्स जिन्होंने अपने आधार और बैंक अकाउंट नंबर को UAN के साथ जोड़ रखा है, वो अब सीधे EPFO को अपना फॉर्म जमा कर सकेंगे। ऐसे सब्सक्राइर्ब्स को एम्पलॉयर के वेरिफिकेशन की जरूरत नहीं होगी।

    > ऐसे लोग जिन्होंने अपना आधार और बैंक अकाउंट नंबर UAN के साथ लिंक्ड नहीं किया है, उनके लिए एक नया समग्र दावा प्रपत्र जारी किया गया है। किसी भी दावे के निपटान के लिए इस फॉर्म को जमा करना होगा लेकिन इसे एम्पलॉयर के वेरिफिकेशन के बाद ही जमा किया जा सकेगा।

    आगे की स्लाइड में पढ़ें ऐेसे ही और नियमों के बारे में...

  • अब सिर्फ 1 फॉर्म से निकल जाती है PF की राशि
    +1और स्लाइड देखें

    > EPFO सभी सब्सक्राइबर्स के लिए आधार नंबर देना जरूरी कर चुका है। पेंशनर्स को भी आधार नंबर जमा कराना जरूरी है। आधार कार्ड जमा करने की कोई आखिरी तारीख तय नहीं की गई है। यह सिलसिला लगातार चल रहा है।

    > पीएफ खाते में जमा राशि को आप नौकरी छोड़ने के दो महीने के बाद निकाल सकते हैं। घर का कंस्ट्रक्शन, मैरिज, बच्चों की एजुकेशन के लिए भी पीएफ अमाउंट बीच में निकाला जा सकता है। पीएफ का पैसा अब जनरली 3 से 10 दिनों में निकल जाता है।

    > प्रोविडेंट फंड के नियमों के मुताबिक इम्प्लॉई की सैलरी का 12 फीसदी हिस्सा इस फंड में जाता है। साथ ही इतना ही फंड एम्प्लॉयर की और से मिलाया जाता है। इसमें से 8.33 फीसद हिस्सा इंप्लॉय पेंशन स्कीम में चला जाता है।

आगे की स्लाइड्स देखने के लिए क्लिक करें
दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए News in Hindi, Breaking News सबसे पहले दैनिक भास्कर पर |

More From Wellness

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×