Hindi News »Lifestyle News »Wellness» Why Does February Have 28 Days And Sometimes 29 Days

फरवरी का महीना 28 या 29 दिन का ही क्यों होता है? ये है इसके पीछे की वजह

dainikbhaskar.com | Last Modified - Feb 07, 2018, 12:17 PM IST

इसके पीछे रोमन किंग न्यूमा पोम्पीलियस का हाथ है।

    यूटिलिटी डेस्क। ज्यादातर लोगों के मन में यह सवाल रहता है कि आखिर फरवरी का महीना 28 या 29 दिन का ही क्यों होता है। इसके पीछे रोमन किंग न्यूमा पोम्पीलियस का हाथ है। जी हां... हम जो कैलेंडर यूज करते हैं वो रोमन कैलेंडर पर आधारित है। पुराने रोमन कैलेंडर में एक साल में सिर्फ 10 महीने हुआ करते थे जिसमें 304 दिन शामिल थे। लेकिन बाद में इसमें दो और महीने जोड़ दिए गए जिनका नाम जनवरी और फरवरी रखा गया। ऐसा करने से पूरा साल 12 महीने का हो गया।

    लेकिन इस कैलेंडर पर भी काफी विवाद हुआ क्योंकि इस कैलेंडर के अनुसार त्योहार सही समय पर नहीं आ पा रहे थे। इसके बाद इसमें काफी बदलाव किए गए। इस बदलाव में फरवरी महीने से 2 दिन कम कर दिए गए जिसके कारण साल में 365 दिन तय हो गए। यह कैलेंडर पृथ्वी और सूर्य की परिक्रमा के अनुसार बनाया गया था क्योंकि पृथ्वी को सूर्य का चक्कर लगाने में 365 दिन और 6 घंटे का समय लगता है। ऐसे में हर साल 6 घंटे एक्स्ट्रा बच जाते हैं जो 4 साल बाद 24 घंटे यानि एक दिन में बदल जाते हैं। इसी वजह से फरवरी के महीने में 28 या 29 दिन होते हैं।

    दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | Hindi Samachar अपने मोबाइल पर पढ़ने के लिए डाउनलोड करें Hindi News App, या फिर 2G नेटवर्क के लिए हमारा Dainik Bhaskar Lite App.
    Web Title: frvri ka mhinaa 28 yaa 29 din ka hi kyon hotaa hai? ye hai iske pichhe ki wajah
    (News in Hindi from Dainik Bhaskar)

    Stories You May be Interested in

        More From Wellness

          Trending

          Live Hindi News

          0
          ×