जानिए कैसे एसएमएस बनाएगा हेल्दी और कहां भेजा गया था पहला!

9 वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक
एक आम किशोर हर महीने औसतन 3,417 और रोज 114 टेक्स्ट मैसेज प्राप्त करता है। यह खुलासा अमेरिका में हुए एक सर्वेक्षण में हुआ है। दूसरी तरफ सेंटर फॉर डिसीज कंट्रोल एंड प्रीवेंशन की एक रिपोर्ट के मुताबिक उच्च विद्यालय के छात्र रोजाना 1.2 बार फल और सब्जी खाते हैं, जबकि उनके लिए दिन में पांच बार फल और सब्जी खाने की सलाह दी जाती है। इसे देखते हुए किशोरों में स्वास्थ्य के प्रति जागरुकता बढ़ाने के लिए टेक्स्ट मैसेज का उपयोग एक समझदारी भरा कदम हो सकता है।
इस अध्ययन का निष्कर्ष 177 किशोरों पर एक साल तक किए गए परीक्षण पर आधारित है। शोधकर्ताओं के मुताबिक मैसेज के जरिए टींस को खाने की याद दिला सकते हैं।
1984- में फ्रिडेल्म हिलेब्रांड और बनार्ड गिलेबेयर्ट ने एसएमएस की अवधारणा का विकास किया था। हालांकि, पहला एसएमएस 3 दिसंबर 1992 को इंग्लैंड में भेजा गया था।