पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

दूसरा मकान खरीदें पर पीएफ को न छुएं

9 वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक

ऐसे लोगों की तादाद तेजी से बढ़ रही है, जो दूसरा मकान खरीद रहे हैं। दूसरा मकान वे या तो निवेश के लिए खरीद रहे हैं या फिर दूसरे घर के लिए। पहला मकान खरीदने के लिए लोग जहां होम लोन को तवज्जो देते हैं, वहीं दूसरा मकान खरीदने के लिए उनकी नजर उस पैसे पर होती है जो उन्होंने बचा कर रखे हैं। उसी समय उनके सामने दुविधा जैसी स्थिति भी पैदा होती है। वे सोचते हैं कि दूसरे मकान के लिए लोन लेने की बजाय क्यों न अपनी जमा पूंजी से पैसों का इंतजाम किया जाए। पूरा नहीं तो कम से कम आंशिक तौर पर सही। नौकरीपेशा लोगों को लगता है कि दूसरा मकान खरीदने के लिए प्रॉविडेंट फंड (पीएफ) से पैसा निकालना सबसे अच्छा रहेगा। आमतौर पर लोग करते भी ऐसा ही हैं, लेकिन यह बुद्धिमानी नहीं है क्योंकि इसमें फायदे की जगह नुकसान होने की संभावना ज्यादा रहती है। हम बता रहें हैं कि दूसरा मकान खरीदने के लिए क्यों न लगाएं पीएफ को हाथ:





बुरे दौर में सुरक्षा कवच है पीएफ





पीएफ अकाउंट से पैसा तभी निकालें, जब आप बेहद मुश्किल स्थिति में फंसे हों और किसी दूसरे स्रोत से पैसों का इंतजाम न हो पा रहा हो। अगर दूसरा मकान खरीदने या फिर ऊंची ब्याज दर वाला लोन चुकाने के लिए पीएफ अकाउंट से पैसे निकालते हैं, तो संभव है कि मुश्किल आने पर आपके पास पैसों के लिए कोई दूसरा रास्ता ही न बचा हो। यह बात हमेशा ध्यान रखिए कि पीएफ का पैसा राेजमर्रा की जरूरतें पूरी करने के लिए नहीं है।





चक्रवृद्घि ब्याज का नुकसान





जानकार कहते हैं कि मौजूदा निवेश लक्ष्य हासिल करने के लिए भविष्य की वित्तीय सुविधाआें से समझौता नहीं किया जाना चाहिए। पीएफ पर मिलने वाला 8.5 फीसदी ब्याज 8 साल से भी कम समय में उस रकम को दो गुना कर देगा। आप अगर पीएफ का पैसा निकाल लेंगे तो उस पर मिलने वाले चक्रवृद्घि ब्याज (कंपाउंड इंट्रेस्ट) से भी हाथ धाे बैठेंगे। यह लंबी अवधि के निवेश के मूल सिद्घांत के खिलाफ है। अगर पीएफ काे हाथ नहीं लगाया, तो रिटायरमेंट के समय आपके हाथ में अच्छी खासी रकम हाेगी।





कम हो सकती है आपकी कमाई एक जगह से पैसा निकालकर दूसरी जगह लगाने को तभी सही माना जा सकता है, जब वहां ज्यादा रिटर्न मिल रहा हो। आप पीएफ के पैसे काे रियल एस्टेट में लगाने की तैयारी कर रहे हैं, पर मंदी के दौर में इसे समझदारी नहीं कह सकते। पिछले चार-पांच साल में रियल स्टेट के बाजार में जितना उछाल आया, आगे उतनी बढ़ोतरी की उम्मीद नहीं है। सबसे बुरा तब होता है, जब प्रॉपर्टी की कीमतों में गिरावट की वजह से आप काे अपना पैसा गंवाना पड़ता है। जोखिम भरे क्षेत्र में निवेश के लिए एक सुरक्षित और लगातार अच्छा रिटर्न देने वाले निवेश को छोड़ना ठीक नहीं है।





जरूरत से ज्यादा निवेश न करें



अगर पीएफ यानी बचत के पैसे निकालने पड़ें ताे इसे चेतावनी मानना चाहिए, क्योंकि आप जरूरत से ज्यादा खर्च या निवेश कर रहे हैं। अगर रहने के लिए घर खरीद रहे हैं, तब ठीक है, लेकिन अगर दूसरा मकान खरीदने जा रहे हैं, तो इसका मतलब यह है आप लाभ कमाने के उद्देश्य से एेसा कर रहे हैं। इस बात का ध्यान जरूर रखें कि क्या बचत के पैसे निकालकर किया जाना वाला निवेश व्यावहारिक है?





पीएफ अकाउंट में पैसा दोबारा डालना मुश्किल



जब आप पीएफ अकाउंट से पैसे निकालते हैं तो आपको दो विकल्प दिए जाते हैं- क्या आप निकाली गई रकम वापस कर देंगे या फिर वापस नहीं करेंगे। आदर्श स्थिति तो यह है कि आर्थिक संकट के दौर से उबरने के बाद पैसा फिर से पीएफ अकाउंट में डाल दिया जाए। लेकिन कम ही लोगों में इतना वित्तीय अनुशासन होता है। ज्यादातर मामलों में लोग पीएफ अकाउंट में पैसा वापस नहीं डाल पाते। भले ही आपको यह यकीन हो कि कुछ साल के भीतर ही पीएफ अकाउंट में पैसा वापस डाल देंगे लेकिन जहां तक संभव हो, बड़े हाेम लोन का ही विकल्प चुनना चाहिए क्योंकि आयकर की धारा 24(बी) के तहत होम लोन में सालाना चुकाए जाने वाले डेढ़ लाख रुपये तक के ब्याज पर छूट मिलती है। इससे न केवल आपको मकान सस्ता पड़ता है, बल्कि किसी आपात स्थिति से निपटने के लिए आपके पास पर्याप्त पैसे भी रहते हैं।



आज का राशिफल

मेष
Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
मेष|Aries

पॉजिटिव- आज दिन भर व्यस्तता बनी रहेगी। पिछले कुछ समय से आप जिस कार्य को लेकर प्रयासरत थे, उससे संबंधित लाभ प्राप्त होगा। फाइनेंस से संबंधित लिए गए महत्वपूर्ण निर्णय के सकारात्मक परिणाम सामने आएंगे। न...

और पढ़ें