पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

हेल्थ बुलेटिन

9 वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक

खतरनाक है चाय का चस्का





चाय की चुस्कियां लेने में कंजूसी न बरतने वाले मर्द जितना जल्दी सावधान हो जाए, उतना बेहतर है। अभी तक आप चाय पीने के फायदे पढ़ते आए हैं, लेकिन अब एक नई स्टडी में ज्यादा चाय पीने के नुकसान सामने आए हैं। दरअसल रोज 7 कप या ज्यादा चाय पीने वाले मर्दो पर प्रोस्टेट कैंसर का खतरा बाकी मर्दो की तुलना में 50 फीसदी ज्यादा होता है। यह दावा 6 हजार से भी ज्यादा लोगों पर 37 साल की स्टडी के बाद किया गया है। स्टडी की शुरुआत डॉ. काशिफ शफीक ने 1970 में कर दी थी। इसमें उन्होंने 21 से 75 साल तक के लोगों को शामिल किया। डॉ. काशिफ कहते हैं, मैं स्टडी के नतीजे देखकर हैरान था। हमने पाया कि 7 कप से ज्यादा चाय का हरेक प्याला कैंसर के खतरे को बढ़ाता जाता है।’ स्टडी में शामिल 7 या ज्यादा कप चाय पीने वाले 6.4 फीसदी लोग प्रोस्टेट कैंसर का शिकार बने। स्टडी उन रिपोर्ट को खारिज करती है, जिनमें कहा गया है कि चाय पीने से कैंसर या दिल की बीमारियों का खतरा कम हो जाता है।





टीवी देखकर ज्यादा एक्टिव रहते हैं बच्चे





जिन पैरेंट्स को लगता है टीवी देखना उनके बच्चंे के लिए सही नहीं है, उन्हें एक बार दोबारा सोचना चाहिए। एक सर्वे बताता है कि जो बच्चे टीवी देखते हैं, वो टीवी न देखने वाले बच्चों से ज्यादा चुस्त रहते हैं। 500 बच्चों पर किए सर्वे में पाया गया कि टीवी देखने वाले बच्चे खेल या दूसरी गतिविधियों में कम से कम 20 मिनट लगाते हैं, जिससे वे दूसरे बच्चों की तुलना में ज्यादा एक्टिव रहते हैं। दूसरी तरफ इससे पहले हुई स्टडी में कहा गया था कि ज्यादा टीवी देखने वाले बच्चे मोटे और सुस्त होते हैं।





नाइट शिफ्ट से कैंसर का खतरा लगातार नाइट शिफ्ट में काम करने वाली महिलाआंे के लिए बुरी खबर है। रात को काम करने वाली महिलाओं में दिन में काम करने वाली महिलाओं के मुकाबले ब्रेस्ट कैंसर का खतरा 30 फीसदी ज्यादा होता है। हफ्ते में 3 या इससे ज्यादा रातों में 6 साल तक काम करने वाली महिलाओं पर यह खतरा दोगुना होता है। ब्रिटेन में हुई स्टडी में नाइट शिफ्ट में काम करने वाली हर 20 में से एक महिला ब्रेस्ट कैंसर का शिकार निकली और कुल मिलाकर ऐसे 1960 केस सामने आए। दरअसल रात को जागने का सीधा असर नींद से जुड़े हार्मोन मेलाटोनिन पर पड़ता है। मेलाटोनिन की सही मात्रा ही अच्छी नींद में मददगार होती है और मेलाटोनिन का संबंध ब्रेस्ट कैंसर से है। नाइट शिफ्ट में काम करने का असर मेटाबॉलिज्म पर भी पड़ता है। नर्स और एयर होस्टेस पर इस मामले में खतरा सबसे ज्यादा मंडराता है क्योंकि वो नाइट शिफ्ट से नहीं बच पातीं। ब्रिटेन में एक साल में इस तरह के मामलों में करीब 550 महिलाओं की मौत होती है।





दो कप कॉफी रखेगी हार्ट अटैक से दूर





कॉफी के दो प्याले सेहत के लिए रामबाण साबित हो सकते हैं। रोज दो कप कॉफी पीने वाले लोगों में हार्ट फेल होने का खतरा 11 फीसदी कम होता है, लेकिन इसका यह मतलब बिल्कुल नहीं है कि इस बहाने कॉफी के प्याले पर प्याले पीते जाएं। दो कप से ज्यादा कॉफी पीने पर उसका कोई फायदा नहीं मिलता। रिसर्चर कहते हैं कि सीमित मात्रा में कॉफी पीने वालों में कैफीन को बर्दाश्त करने की क्षमता बढ़ती है, जिसका सीधा संबंध हाई ब्लड प्रेशर को झेलने की लिमिट से है। हार्ट फेल होने की दो सबसे बड़ी वजह डायबीटिज तथा हाइपरटेंशन हैं और कॉफी टाइप 2 डायबीटिज का खतरा भी कम करती है। यह बात अलग है कि रिसर्चर दो कप कॉफी और हार्ट फेल का खतरा कम होने के बीच संबंध की वजह नहीं बता पा रहे हैं।



आज का राशिफल

मेष
Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
मेष|Aries

पॉजिटिव - कुछ समय से चल रही किसी दुविधा और बेचैनी से आज राहत मिलेगी। आध्यात्मिक और धार्मिक गतिविधियों में कुछ समय व्यतीत करना आपको पॉजिटिव बनाएगा। कोई महत्वपूर्ण सूचना मिल सकती है इसीलिए किसी भी फोन क...

और पढ़ें