पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

जानी जगह, अनजानी बातें : राष्ट्रपति भवन

9 वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक
देश का अगला महामहिम बनने के लिए प्रणव मुखर्जी और पीए संगमा मैदान में हैं। जल्द साफ हो जाएगा कि रायसीना हिल में अगले पांच साल कौन विराजमान रहेगा। इस विशिष्ट भवन के दरवाजों के पीछे के रोचक पहलुओं की जानकारी दे रहे हैं विवेक शुक्ला 250 गुलाब की किस्में आप राष्ट्रपति भवन के मुगल गार्डन में देख सकते हैं। यह बागीचा तत्कालीन वायसराय चाल्र्स हार्डिग की पत्नी लेडी हार्डिग की पहल पर बनाया गया था। देश के पहले राष्ट्रपति डॉ. राजेंद्र प्रसाद ने इसके दरवाजे आम आदमी के लिए खुलवाए। 340 कमरे हैं राष्ट्रपति भवन में। जबकि अमेरिका के राष्ट्रपति आवास व्हाइट हाउस में 132 कमरे हैं। लगभग दो लाख वर्ग फुट में फैले राष्ट्रपति भवन की कीमत आज के रियल एस्टेट मार्केट के हिसाब से करीब 160 अरब रुपए है। 4 ठेकेदारों ने राष्ट्रपति भवन के प्रोजेक्ट का जिम्मा संभाला। इसे ब्रिटिश वायसराय के भारतीय निवास के रूप में बनाया गया था। इस प्रोजेक्ट के चीफ इंजीनियर सर तेजा सिंह थे। चार ठेकेदारों में जाने-माने पत्रकार खुशवंत सिंह के पिता सरदार सोबा सिंह भी शामिल थे। 50 से ज्यादा खानसामा राष्ट्रपति भवन में बैंक्वेट के मौके पर भोजन तैयार करते हैं। आम दिनों में भी 15-20 शेफ खाना पकाते हैं। यहां ज्यादातर शाकाहारी भोजन तैयार किया जाता है। प्रतिभा पाटिल ने हाल ही में यहां की रसोई में अनानास का हलवा शुरू कराया। 17 साल लगे थे राष्ट्रपति भवन के निर्माण में, जो 1912 से 1929 तक चला। निर्माण पर उस वक्त 1.4 करोड़ रुपए खर्च हुए थे और इसे बनाने के लिए मजदूर राजस्थान से आए थे। महामहिम के अलावा 1,500 कर्मचारियों के परिवार भी राष्ट्रपति भवन में रहते हैं। 1000 लोग हर रोज राष्ट्रपति भवन देखने के लिए आते हैं। इसके लिए कोई फीस नहीं ली जाती, लेकिन पास जरूर बनवाना पड़ता है। शनिवार को इसे देखने आने वालों का आंकड़ा 1,500 पार कर जाता है। 4 टेनिस के ग्रास कोर्ट राष्ट्रपति भवन के भीतर हैं। इनके अलावा क्रिकेट मैदान, पोलो ग्राउंड और एक शानदार गॉल्फ कोर्स भी है। हालांकि, आम तौर पर राष्ट्रपति इनका इस्तेमाल नहीं करते। 70 करोड़ ईंटों का इस्तेमाल हुआ राष्ट्रपति भवन के निर्माण में। इसके अलावा 30 लाख क्यूबिक फुट पत्थर भी लगे। इमारत बनाने में लोहे का नाममात्र उपयोग हुआ।

आज का राशिफल

मेष
Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
मेष|Aries

पॉजिटिव- आध्यात्मिक गतिविधियों में समय व्यतीत होगा। जिससे आपकी विचार शैली में नयापन आएगा। दूसरों की मदद करने से आत्मिक खुशी महसूस होगी। तथा व्यक्तिगत कार्य भी शांतिपूर्ण तरीके से सुलझते जाएंगे। नेगेट...

और पढ़ें