• Hindi News
  • इन जगहों पर लोगों को मिल सकती थी पार्किंग

इन जगहों पर लोगों को मिल सकती थी पार्किंग

8 वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक
बेली रोड : विद्युत भवन के सामने सड़क के दक्षिण तरफ, राजवंशी नगर हनुमान मंदिर के दक्षिण, पटना वीमेंस कॉलेज के पास
कंकड़बाग पथ संख्या ((दो)) : मुन्ना चक से पूरब कुम्हरार टोली तक, पीपुल्स कम्यूनिटी हाल से विकलांग भवन तक, बैंक ऑफ बड़ौदा कंकड़बाग के पास, सुपर मार्केट 99 के सामने, राजेन्द्र नगर आरओबी के पास, सेंट्रल स्कूल तक ((उत्तर तरफ)), डीलक्स शौचालय न्यू से श्री राम हॉस्पिटल तक
आर के एवेन्यू पथ : निगम पम्प सम्प हाउस दिनकर गोलंबर के पूरब
आर्य कुमार पथ : वैशाली सिनेमा गोलंबर से दिनकर गोलबंर ((डिवाइडर पर तिरछा))
कंकड़बाग मुख्य पथ ((एक)) : कुम्हरार के पास सड़क के दक्षिण तरफ, राजेन्द्र नगर आरओबी के पश्चिम लिलिपुट के पास, बहादुरपुर आरओबी के नीचे चार भाग में
अशोक राजपथ: एस के मेमोरियल हॉल के पास, कोर्ट पथ से संत जोसफ के सामने तक, चिल्ड्रेन पार्क के पास गांधी मैदान तक, काली मंदिर के पास, मगध महिला कॉलेज के सामने ((दक्षिण तरफ))
फ्रेजर रोड: महाराजा कॉलेज के सामने
राजेन्द्र पथ: सीडीए बिल्डिंग से भट्टाचार्य पथ
अराउंड गांधी मैदान: गांधी मैदान से यातायात थाना तक
दरोगा राय पथ: पंच मंदिर से सहजानन्द भवन पथ के पूरब
मैंगल्स रोड: केवी सहाय की मूर्ति के पूरब तरफ पुल निर्माण निगम कार्यालय तक, पेसू और पीएचईडी कार्यालय के उत्तर तरफ
कंकड़बाग पथ संख्या((एक)): टेम्पो स्टैंड के पास



अब जिम्मेदारी निगम की

॥ नगर निगम ने पार्किंग के लिए 13 सड़कों पर एनओसी मांगी थी। उसमें 12 पर उन्हें अनुमति दे दी गई थी। बाकी जिम्मेदारी नगर निगम की है।

चंद्र मोहन के. मिश्रा, एक्जीक्यूटिव इंजीनियर, नूतन राजधानी पथ प्रमंडल

पथ निर्माण विभाग ने पार्किंग के लिए निगम की चिट्ठी पर जून में दी थी एनओसी

एनओसी ले भूला निगम

बना देते पार्किंग तो नहीं रहती ऐसी तस्वीर

देवेंद्र तिवारी > पटना ८६५१९९२९९२

पटना नगर निगम औपचारिकता तो खूब करता है, काम पर उसका ध्यान नहीं। इसका एक बड़ा प्रमाण डीबी स्टार के हाथ लगा है। निगम ने पथ निर्माण विभाग से कुछ सड़कों पर पार्किंग बनाने के लिए अनापत्ति प्रमाणपत्र ((एनओसी)) मांगा था। एक सड़क पर पथ निर्माण विभाग को आपत्ति थी, लेकिन शेष के लिए उसने पिछले साल जून में ही निगम को एनओसी भेज दी। इसके बाद निगम एनओसी लेकर भूल बैठा। अब तक पार्किंग को लेकर इसके बाद कोई प्रक्रिया नहीं हुई है।

निगम के रवैए से साफ हो रहा है कि शहर की जनता की पार्किंग परेशानी से नगर निगम को कोई लेना-देना नहीं है। नगर निगम ने बीते साल अप्रैल माह में नूतन राजधानी अंचल पथ निर्माण विभाग से शहर की 13 सड़कों के 29 स्थानों पर पार्किंग के लिए एनओसी मांगी थी। दो माह के अंदर पथ निर्माण विभाग ने इनमें से 13 में 12 जगहों के लिए एनओसी भी दे दी। एनओसी मिलने के करीब 10 माह से ज्यादा बीत जाने के बाद अब तक पार्किंग की व्यवस्था नहीं की गई है। यहां तक कि इसके लिए कोई टेंडर ही निकाला गया। अगर नगर निगम ने इन जगहों पर पार्किंग की व्यवस्था कर दी होती तो शहर में पार्किंग की परेशानी से थोड़ी-बहुत निजात जरूर मिल जाती।

नगर निगम ने पथ निर्माण विभाग से बेली पर तीन, कंकड़बाग में सात, कंकड़बाग मेन रोड पर चार, अशोक राजपथ पर छह, मैंगल्स रोड पर दो के अलावा आर के एवेन्यू पथ, आर्यकुमार रोड, फ्रेजर रोड, राजेन्द्र पथ, गांधी मैदान के किनारे, हार्डिंग रोड, दरोगा राय पथ पर एक-एक पार्किंग बनाने के लिए एनओसी मांगी थी। इस संबंध में निगम आयुक्त से मिलने और मोबाइल से बात करने की कोशिश बेकार रही। मैसेज पर भी जवाब नहीं मिला।

पथ निर्माण विभाग ने लोगों की पार्किंग की सुविधा के लिहाज से जिन सड़कों पर पार्किंग शुरू करने के लिए एनओसी दिया गया वहां अब अतिक्रमणकारियों ने कब्जा जमा रखा है। ज्यादातर स्थानों पर छोटे दुकानदारों, रेहड़ी पटरी वालों ने कब्जा जमा रखा है। स्टेशन रोड की फाइल फोटो में कब्जे के कारण जाम दिख रहा।