• Hindi News
  • बिल्डर के खिलाफ धोखाधड़ी का जुर्म दर्ज

बिल्डर के खिलाफ धोखाधड़ी का जुर्म दर्ज

8 वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक
दुर्ग - जमीन बिक्री में धोखाधड़ी के मामले में बिल्डर व अनुष्ठा रेसीडेंसी के प्रोप्राइटर राघवेंद्र दास वैष्णव पिता नरेंद्र दास के खिलाफ जेएमएफसी मोहिनी कंवर के कोर्ट ने धारा 420 भादवि के तहत मामला पंजीबद्ध किया है।
वैशाली नगर भिलाई निवासी रमेश चंद्र सिंह पिता एपी सिंह ने अधिवक्ता नीरज चौबे के जरिए कोर्ट में वैष्णव के खिलाफ परिवाद पेश किया था। सुनवाई के बाद कोर्ट ने धोखाधड़ी का मामला पंजीबद्ध करने का आदेश दिया। वैष्णव ने जुनवानी स्थित भूमि का पंजीकृत बैनामा गोवर्धन लाल साहू व उसके परिवार वालों को 2006 में करवाया था। संपूर्ण रकम 12 लाख रुपए राघवेंद्र दास द्वारा परिवादी रमेशचंद्र सिंह प्राप्त की गई थी। राजस्व अभिलेख में उसका नाम दर्ज करवाने का वादा भी किया था। बाद में परिवादी रमेश चंद्र को अधिवक्ता के सर्च रिपोर्ट पर यह जानकारी प्राप्त हुई कि परिवादी को बिक्री की गई भूमि पूर्व से ही नानक राम आहूजा को विक्रय कर दी गई है। इस तरह पहले से दूसरे को बेची गई जमीन का सौदा रमेश चंद्र से किया गया। रमेश चंद्र को जब इस धोखाधड़ी की जानकारी हुई तो उन्होंने राघवेंद्र दास से संपर्क किया। राघवेंद्र ने माफी मांगी और संपूर्ण रकम 12 लाख रुपए का चेक भुगतान के लिए दिया। यह चेक बाउंस हो गया। चेक बाउंस मामले में वैष्णव के खिलाफ अलग से प्रकरण कोर्ट में लंबित है। धोखाधड़ी की शिकायत रमेशचंद्र ने पुलिस अधीक्षक से की थी। अधिवक्ता चौबे के जरिए कोर्ट में परिवाद प्रस्तुत किया।