• Hindi News
  • प्राइवेट छात्रों से अधिक फीस वसूली

प्राइवेट छात्रों से अधिक फीस वसूली

8 वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक
बंसुला-!-शासकीय महाविधालय बसना पर अमहाविद्यालयीन छात्र-छात्राओं को कालेज फीस के अतिरिक्त जनभागीदारी शुल्क की दोहरी मार भारी पड़ रही है। बीपीएल कार्डधारियों से भी जनभागीदारी शुल्क जमकर लिया जा रहा है। दिलचस्प तथ्य यह है कि प्रशासन अथवा विश्वविद्यालय के द्वारा जनभागीदारी शुल्क की राशि कितनी लेने चाहिए? यह तय नहीं किया है, बल्कि स्थानीय समिति के निर्णय को सर्वोपरि मानकर 430 रुपए की रसीद थमाकर पैसा लिया जा रहा है।
वही इन अमहाविद्यालयीन छात्र-छात्राओं में इस तरह जबरन जनभागीदारी शुल्क के रूप में राशि लेने से तीव्र आक्रोश व्याप्त है। विभागीय सूत्रों के अनुसार नियमित छात्र-छात्राओं को 50 फीसदी कालेज फीस पर छूट बीपीएल, राशन कार्ड धारियों को प्राप्त होती है एंव जनभागीदारी शुल्क के रूप में 300 रुपए लिया जाता है। जबकि अमहाविद्यालयीन छात्र-छात्राओं को कालेज शुल्क के साथ 400 रुपए जनभागीदारी का और 30 रुपए अग्रेषण शुल्क के रूप में जमा करना पड़ रहा है।
अमहाविद्यालयीन छात्र-छात्राओं से जनभागीदारी समिति के निर्णय की ढिढोरा पीटकर नियमित छात्र-छात्राओं से 100 रुपए अधिक शुल्क लिया जा रहा है किंतु इन प्राईवेट छात्र-छात्राओं को इस राशि के बदले क्या-क्या सुविधा दिया जाता है। इस पर समिति एंव बसना कालेज प्रबंधन सही
जबाब देने से कतराते नजर आ रहे है। सूत्रों के अनुसार अमहाविद्यालयीन छात्र-छात्राओं के द्वारा सिर्फ परीक्षा के तिथि में ही कालेज आते है। उन्हें सांस्कृतिक कार्यक्रमो एंव अन्य आयोजनों
में भागीदारी देने की अनुमति प्रदाय नहीं किया
जाता है।