• Hindi News
  • 9 माह बाद मिला समूहों को काम

9 माह बाद मिला समूहों को काम

8 वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक
कोरबा-!- आंगनबाड़ी केन्द्रों में रेडी टू ईट फूड पहुंचाने वाले समूहों को 9 महीने बाद दायित्व देने में सफल हो गया है। सत्र का 3 माह ही शेष हैं इसको लेकर समूहों में असमंजस की स्थिति बनी हुई है। वहीं विभाग ने कार्यादेश में चयनित समूहों की सूची जारी नहीं की है। इसको लेकर तरह तरह की चर्चाएं हो रही हैं।
2010-11 के बाद 2013-14 के लिए नए समूहों के आंगनबाड़ी केन्द्रों में रेडी टू इट फूड तैयार करने व पहुंचाने का काम महिला एवं बाल विकास विभाग ने अंतत: कलेक्टर की अनुशंसा पर कर दी है। आवंटन की इस प्रक्रिया में महिला एवं बाल विकास विभाग ने 9 माह लगा चुके हैं। अप्रैल से नया सत्र हो जाएगा। जिन समूहों को काम दिया गया है वे तीन महीने ही काम करेंगे या आगे भी इसका खुलासा विभाग ने नहीं किया है। इतना ही नहीं विभाग ने इस बात को भी प्रकाशित नहीं कराया है कि कौन-कौन समूह रेडी टू ईट फूड के लिए चयनित किए गए हैं। उल्लेखनीय है कि सत्र के प्रारंभ से शुरू हुई प्रक्रिया में रेडी टू ईट फूड बनाने वाले 250 स्व सहायता समूहों ने महिला एवं बाल विकास विभाग में आवेदन किए थे। आवेदन की प्रक्रिया जुलाई में पूर्ण हो गई थी, लेकिन विभाग ने दावा-आपत्ति के लिए 20 अगस्त तक समय दिया। इसमें भी विभाग के पास 36 लोगों की आपत्ति आई है। विभाग के सामने अब नई समस्या आ गई थी कि दावा आपत्ति के निराकरण के बगैर समूहों को काम नहीं दिया जा सकता।
वहीं विभाग ने सभी दावा आपत्तियों पर अपनी राय जाहिर करते हुए विभागीय सूचना पटल पर चस्पा करा दिए थे। इस बीच 5 अक्टूर से विधानसभा चुनाव की अधिसूचना लागू होने से आवंटन की प्रक्रिया भी थम गई थी। 11 दिसंबर से अधिसूचना समाप्त होने के बाद विभाग जनवरी माह में समूहों को दायित्व देने में सफल हो सका है।