• Hindi News
  • नक्सलियों के निशाने पर पहले से थी एंबुलेंस

नक्सलियों के निशाने पर पहले से थी एंबुलेंस

8 वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक
भास्कर न्यूज . जगदलपुर
सीआरपीएफ के जवान लगातार नक्सलियों को चकमा देने के लिए अपनी वाहनों में एंबुलेंस व संजीवनी 108 के नाम का प्रयोग कर रहे थे। शनिवार को दरभा में हुई घटना से पहले भी जवान सफर करने के लिए फोर्स की वाहनों में संजीवनी 108 के नाम का उपयोग किया करते थे। नक्सलियों की नजर ऐसी एंबुलेंस पर थी। नक्सलियों को पता था कि हो न हो जवान कहीं न कहीं एंबुलेंस का प्रयोग करेंगे और हुआ भी यही। मतदान दल को सुरक्षित निकालने के बाद कुछ सीआरपीएफ के जवान जबरन 108 में सवार हो गए। मौके पर वाहन के पायलट व टैक्निशयन ने जवानों को ले जाने से मना भी किया पर वे नहीं माने। जैसे ही जवान एंबुलेंस में सवार हुए इसकी खबर तुरंत ही नक्सली मददगारों ने एंबुश लगाए बैठे नक्सलियों तक पहुंचा दी थी। इसके बाद पहले से तैयार एंबुश के पास एंबुलेंस के पहुंचते ही विस्फोट कर दिया।