• Hindi News
  • सब इंजीनियर को कक्ष में घुसकर मारा तमाचा

सब इंजीनियर को कक्ष में घुसकर मारा तमाचा

8 वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक
भास्कर न्यूज-!-चांपा
पांच साल पहले काटे गए चेक का बार बार कमिशन मांगने वाले पीएचई के सब इंजीनियर के दफ्तर में घुसकर बोरवेल्स का काम करने वाले ठेकेदार ने पिटाई कर दी। पुलिस ने मामले में ठेकेदार के खिलाफ जुर्म दर्ज कर लिया है।
लोक स्वास्थ्य यांत्रिकी विभाग में कमिशन के चक्कर में एक सब इंजीनियर को ठेकेदार ने तमाचा जड़ दिया। पीएचई में बोरवेल्स का काम करने वाला ठेकेदार मुकेश शर्मा मंगलवार की शाम 4 बजे चिल्लाते हुए चांपा दफ्तर पहुंचा। पीएचई अकलतरा में पदस्थ उपयंत्री एसआरएस ठाकुर के साथ वह गाली गलौज करने लगा। उपयंत्री ठाकुर का कहना है कि कुछ समझ पाता इससे पहले ही मुकेश ने किस बात का कमिशन दूंगा कहते हुए सीधे तमाचा जड़ दिया। इसके बाद उसने मारपीट शुरू कर दी। सब इंजीनियर के कक्ष में घुस कर मारपीट करने की घटना के बाद दफ्तर में हंगामा मच गया।
डिप्लोमा अभियंता संघ के अध्यक्ष एससी राठौर सहित अन्य इंजीनियर भी मौके पर पहुंच गए। पुलिस ने उपयंत्री एसआरएस ठाकुर की रिपोर्ट पर मुकेश शर्मा के खिलाफ धारा 294, 506, 323 व सरकारी काम में बाधा की धारा 186 के तहत जुर्म दर्ज कर लिया है।



मारपीट की रिपोर्ट दर्ज कराता सब इंजीनियर

घर का मामला सुलझा लो

जिस समय घटना हुई उस समय कार्यपालन अभियंता पीएस सुमन व एसडीओ जाटवर भी थे। लेकिन उन्होंने किसी को मना नहीं किया। हालांकि सुमन का कहना है कि उन्हें घटना की जानकारी नहीं है वे दूसरे कमरे में थे। लेकिन जब श्री ठाकुर जानकारी देने पहुंचे व रिपोर्ट लिखाने को कहा तो उन्होंने स्वयं आगे आने से मना कर दिया। आफिस में घुसकर मारपीट करना ईई को घर का मामला नजर आया और उन्होंने सब इंजीनियर को समझौता करने की सलाह तक दे डाली।

10 लाख का 3 परसेंट

ठेकेदार मुकेश शर्मा का कहना है कि बहुत पहले सब इंजीनियर द्वारा उसके द्वारा कराए गए काम का दस लाख का चेक काटा गया था। इसका तीन परसेंट की दर से कमिशन की मांग की जा रही थी। जिसे देने से वह इंकार कर रहा था। उसी कमिशन की राशि के लिए लगातार दबाव डाला जा रहा था। नहीं देने पर आगे काम नहीं होने की धमकी सब इंजीनियर द्वारा दिया जाती थी।

॥सब इंजीनियर की रिपोर्ट पर मुकेश शर्मा के खिलाफ मारपीट व सरकारी काम में बाधा डालने का मामला दर्ज कर लिया गया है। विवेचना के बाद कार्रवाई की जाएगी।

ममता अली, टीआई चांपा

॥घटना के समय मैं दूसरे कक्ष में अपने काम से व्यस्त था। आपस का मामला होने के कारण दोनों को विवाद को सुलझा लेने की सलाह दी थी।

पीएस सुमन, ईई पीएचई