• Hindi News
  • रागी जत्थे की भावपूर्ण प्रस्तुति

रागी जत्थे की भावपूर्ण प्रस्तुति

8 वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक
गुरु गोविंद सिंह के प्रकाश पर्व पर गुरुद्वारा श्री साध संगत में जम्मू से आए रागी जत्थे के द्वारा भावपूर्ण प्रस्तुति दी गई। इस मौके पर विशेष अरदास का आयोजन किया गया। हिन्दू धर्म की रक्षा के लिए अपना सर्वस्व न्यौछावर करने वाले गुरु गोविंद सिंह के प्रकाश उत्सव पर गुरुद्वारा परिसर में गुरु का अटूट लंगर आयोजित किया गया। इसी कड़ी में रात में कीर्तन दरबार का आयोजन किया गया। वहीं देर रात गुरुद्वारा में शबद कीर्तन के पवित्र स्वर गूंजते रहे। इस अवसर पर शामिल समस्त धर्मानुरागी जनों का उत्साह देखते ही बन रहा था। सभी एक दूसरे को पर्व की शुभकामनाएंं दे रहे थे।




गुरू गोविंद सिंह जयंती के अवसर पर आयोजित लंगर में बड़ी संख्या में समुदाय के लोग शामिल हुए

गुरुद्वारे में दिखी एकता की मिसाल, सभी लोगों ने एक दूसरे को गले मिलकर

दी बधाई

साध संगत व अन्य आयोजनों में शामिल हुए सिक्ख समुदाय के लोग

गुरुद्वारे में गुरु गोविंद सिंह की जयंती पर हुए कई आयोजन, लोगों ने पुष्प चढ़ाकर जताई

अपनी श्रद्धा

लंगर के अलावा अन्य विविध स्पर्धाएं भी हुईं, विजेताओं का किया गया सम्मान

गुरु गोविंद सिंह जयंती पर सब एकजुट

भास्कर न्यूज-!-मनेन्द्रगढ़

पटना के बिहार शहर में जन्मे सिक्खों के दसवें एवं अंतिम गुरु गोविंद सिंह की जयंती के अवसर पर गुरुद्वारा श्री साध संगत में विभिन्न कार्यक्रमों का आयोजन किया गया। सभी आयोजनों में सिक्ख समाज के लोगों के साथ ही साथ सभी धर्म के लोगों ने बढ़ चढ़कर भाग लिया।

कार्यक्रम को सफल बनाने गुरुद्वारा श्री साध संगत व खालसा युवा सेवा दल के सदस्य जुटे रहे। इस अवसर पर गुरुद्वारा परिसर में कई प्रतियोगिता आयोजित की गई। इसमें ग्रुप एक में आयोजित कविता प्रतियोगिता में जसलीन कौर छाबड़ा प्रथम, अरिन कुमार कॉलरा व प्रीत नाकरा द्वितीय एवं राजवीर सिंह चावला ने तृतीय स्थान प्राप्त किया। कथा व उद्बोधन में प्रथम जसलीन कौर छाबड़ा, चित्रकला प्रतियोगिता में प्रथम प्रीत नाकरा, द्वितीय अरिन कुमार कॉलरा, जसलीन कौर छाबड़ा व तृतीय स्थान दिया कॉलरा ने प्राप्त किया। ग्रुप २ के कविता प्रतियोगिता में गगन दीप छाबड़ा प्रथम, सहज प्रीत कौर द्वितीय व अमनीत कौर बग्गा ने तीसरा स्थान प्राप्त किया। कथा उद्बोधन में गुरलीन कौर कॉलरा प्रथम, गगन दीप छाबड़ा ने दूसरा स्थान प्राप्त किया। चित्रकला प्रतियोगिता में गुरलीन कौर कालरा प्रथम, सिमरन कौर, रीत दुआ दूसरे स्थान पर रहीं वहीं राखी ने तीसरा स्थान प्राप्त किया। केशगी प्रतियोगिता में सहजप्रीत कौर प्रथम, अवनीत कौर बग्गा द्वितीय, सुप्रीत कौर छाबड़ा व गुरनाम कौर ने तीसरा स्थान प्राप्त किया।

पगड़ी प्रतियोगिता में परमीत सिंह चावला प्रथम, जसप्रीत सिंह द्वितीय व ब्रम्हजोत सिंह खनूजा ने तीसरा स्थान प्राप्त किया। ग्रुप ३ में कविता प्रतियोगिता में मनमीत कौर छाबड़ा प्रथम, अनमोल सिंह सलूजा द्वितीय व गुरविंदर कौर छाबड़ा ने तृतीय स्थान प्राप्त किया। कथा उद्बोधन प्रतियोगिता में हरप्रीत रैना प्रथम, रसलीन कौर छाबड़ा द्वितीय स्थान पर रहे। चित्रकला प्रतियोगिता में रसलीन कौर छाबड़ा प्रथम, रिंकी कौर द्वितीय व अनमोल सिंह तीसरे स्थान पर रहे। केशगी प्रतियोगिता में मनमीत कौर छाबड़ा प्रथम, अमनदीप कौर रैना, मनप्रीत कौर छाबड़ा द्वितीय व रिंकी कौर ने तीसरा स्थान प्राप्त किया। सभी विजेता प्रतिभागियों को समिति द्वारा सम्मानित किया गया। श्री साध संगत में विभिन्न कार्यक्रमों का आयोजन भी किया गया था। इन सभी आयोजनों में सिक्ख समाज के सभी वर्ग के लोगों के साथ ही साथ सभी धर्म के लोगों ने उत्साह के साथ अपनी सहभागिता निभाई।



आयोजन-!-रागी जत्थे ने शबद कीर्तन कर निहाल किया जत्थे को, गुरु के अटूट लंगर में जुटे सभी धर्म व वर्ग के लोग