• Hindi News
  • क्रिकेट प्रतियोगिता: वाईसीसी टीम ने किंग इलेवन पंडोपारा को हराया

क्रिकेट प्रतियोगिता: वाईसीसी टीम ने किंग इलेवन पंडोपारा को हराया

8 वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक
भास्कर न्यूज -!-चरचा कालरी
बीडी महंत स्मृति क्रिकेट स्पर्धा जिले के १६ स्थानों पर हो रही है। फाइनल मैच मिनी रामानुज स्टेडियम में होगा।
यह बात श्रमवीर स्टेडियम में स्व. बिसाहूदास स्मृति क्रिकेट प्रतियोगिता का शुभारंभ करते हुए जिला कांग्रेस अध्यक्ष अध्यक्ष नजीर अजहर ने कही। उन्होंने कहा यह आयोजन सांसद व केंद्रीय कृषि राज्यमंत्री चरण दास महंत द्वारा अपने पिता स्व. बिसाहू दास महंत की स्मृति में कराया जा रहा है।
इस बार जिले के 16 अलग-अलग जगहों पर यह प्रतियोगिता आयोजित की गई है। फाइनल मैच बैकुंठपुर के मिनी स्टेडियम रामानुंज में होगा। विजेता को 50 हजार रुपए, उपविजेता 30 हजार रुपए व ट्राफी दी जाएगी। इस प्रतियोगिता की तैयारियों में अजीत लकड़ा, हेमसागर यादव, गणेश राजवाड़े, भूपेंद्र यादव, अभिजीत सिंह, विका्रंत सिंह, मृत्युंजय मिश्रा, नजीम, जानू, संजय चौहान, साकिब ईराकी, मुकेश सिंह, कालिया, विकास दुबे व अन्य जुटे हैं। उद्घाटन समारोह के बाद पहला मैच किंग इलेवन पंडोपारा व वाईसीसी क्लब के बीच श्रमवीर स्टेडियम में हुआ।
पहले बल्लेबाजी करते हुए किंग इलेवन ने 10 ओवर में पांच विकेट पर 85 रन बनाए। लक्ष्य का पीछा करते हुए वाईसीसी क्लब ने 1 विकेट के नुकसान पर 86 रन बना कर जीत दर्ज की। मैन ऑफ द मैच सिंकदर प्रधान रहे। दूसरा मैच खरवत इलेवन व यूनिटी क्लब में हुआ। यूनिटी क्लब ने टॉस जीतकर पहले बल्लेबाजी करते हुए 98 रन बनाए। इस लक्ष्य का पीछा करने उतरी खरवत इलेवन 10 ओवर में मात्र 37 रन ही बना पाई। यूनिटी क्लब ने 50 रन से जीत हासिल की। तीसरा मैच 18 बटालियन व बीना क्लब में हुआ। 18 बटालियन की टीम ने पहले बल्लेबाजी करते हुए 3 विकेट खोकर 145 रन बनाए। लक्ष्य का पीछा करने उतरी बीना क्लब 10 ओवर में 78 रन ही बना पाई और 18 बटालियन टीम ने 67 रन से जीत हासिल की। अंपायर मुकेश सिंह, विक्की डे व कमेंट्रेटर पंकज मिश्रा रहे।
कमेंट्रेटर ने मोहा मन
कमेंट्रेटर पंकज मिश्रा ने हंसमुख तरीके से कमेंट्री करते हुए खिलाडिय़ों के साथ दर्शकों का भी मन मोह लिया।



बैकुण्ठपुर-!- स्कूल से अनुपस्थित मिले और स्कूल में समय से पहले ही घर जाने पर दो पंचायत शिक्षकों की एक-एक वेतन वृद्धि संचयी प्रभाव से रोकने के निर्देश जिला पंचायत की मुख्य कार्यपालन अधिकारी रानू साहू ने निरीक्षण के दौरान दिए। जिले में स्कूलों के नियमित संचालन, शिक्षा की गुणवत्ता बढ़ाने के लिए कलेक्टर अविनाश चंपावत के निर्देशन में जिला अधिकारियों द्वारा विभागीय दौरों के दौरान स्कूलों का भी निरीक्षण किया जा रहा है। इसी कड़ी में सहायक आयुक्त आदिवासी विकास एके गढ़ेवाल ने खडग़वां विकासखंड के माध्यमिक स्कूल जरौंधा का निरीक्षण किया। तब वहां पदस्थ पंचायत शिक्षक शांति सिंह व अर्चना खन्ना बिना किसी पूर्व सूचना के कार्य से अनुपस्थित मिली।



अनुपस्थित टीचरों की वेतन वृद्धि रुकी