• Hindi News
  • वैवाहिक मुहूर्तों ने बाजार में बढ़ाई रौनकता, खरीदारी बढ़ी

वैवाहिक मुहूर्तों ने बाजार में बढ़ाई रौनकता, खरीदारी बढ़ी

8 वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक
भास्कर न्यूज - सारंगढ़

शुभ मुहूर्त में शादियों की भरमार है। हर कोई व्यक्ति शादी में जाने की तैयारी कर रहा है। शादी ब्याह के मौसम के चलते शहर के बाजार भी इन दिनों गुलजार नजर आ रहे है।

टेंट किराया वाले बैंड वाले सभी एडवांस बुकिंग पर चल रहे है। इसके लिए घराती एवं बाराती पक्ष के लोग शादी के लिए ़सामानों की खरीदी करने में लगे हुए है। आमतौर पर गर्मी सीजन में होने वाली परेशानी को ध्यान में देखते हुए अधिकतर लोग गर्मी में विवाह मुहूर्त का इंतजार करते है। ग्रामीण क्षेत्रों के हर गांवों में इन दिनों शादी हो रही है। कोई भी गांव ऐसा नहीं जहॉं इस लग्न में शादी न हो रही हो। शादी के चलते शादी कार्यक्रम में शामिल होने वालों से लेकर शादी को सम्पन्न कराने वाले भी तैयारियों में जुट गए है। शादी के लिए अधिकतर रेडिमेड ़सामानों को खरीदी हो रही है।

पंडितों का अभाव

शादियों की भरमार के चलते विवाह सम्पन्न कराने वाले पंडितों को भी बहुत अधिक परेशानी आ रही है। एक साथ कई यजमानों के यहां शादी होने की वजह से उनको भी अन्य पंडित व्यवस्था करनी पड़ रही है। विकास पांडेय से पूछे जाने पर बताया कि गर्मी में इतनी अधिक शादी है कि उनको भी दूसरे पुरोहितों को शादी के लिए व्यवस्था करना पड़ रहा है। नवरात्र से शादी ब्याह का लग्न है। उन्होंने बताया कि रामनवमी और अक्षय तृतीया का विवाह मुहूर्त इस क्षेत्र में सबसे अधिक होती है। रामनवमी में बड़ी संख्या में शांदिया कराई गई।



खाना बनाने वालों की किल्लत

शादी कराने वालो को सबसे अधिक परेशानी रसोईया, बाजा, बाराती वाहन के लिए भटकना पड़ रहा है। इनको एक महीने पहले से ही बुकिंग कराना पड़ रहा है। गांव-गांव में टेंट किरायेदारों की उपलब्धता के बावजूद भी टेंट सामान वालों की डिमांड इन दिनों बढ़ी हुई है। समय अभाव के चलते टेंट सामग्रियों के किरायेदार चार पहिया वाहनों में सामान पहुंचा रहे है।



नकली सामानों

की भरमार

शादी की सीजन के

मद्देनजर बाजार में जहॉं भारी भीड़भाड़ एवं रेलमपेल बना हुआ है। वहीं विभिन्न दुकान नकली सामान से अटा पड़ा है। कूलर, पंखा, टी.वी., आलमारी आदि इलेक्ट्रानिक एवं अन्य किस्म के सामान भी नकली एवं घटिया स्तर का ग्राहकों को दिया जा रहा है। गांव के भोलेभाले लोग हो या फिर शहरी रहवासी दुकानदारों की झांसे में लगभग सभी फंस

जाते है।

रेडिमेड सामानों

की भारी मांग

शादी ब्याह के चलते शहर में इन दिनों भीड़भाड़ भी बढ़ गई है। कपड़ा सराफा, किराना फैंसी आदि कई दुकानों में खरीदारों की भीड़ अधिक दिखाई दे रही है। हर कोई दिनों शादी के कार्यो में लगा हुआ है। समय की कमी की वजह से लकड़ी से बने सामान भी अब रेडिमेड खरीदे जाने लगे है। दरअसल जो पलंग, सोफा बनाना चाहते है। उनके पास लकड़ी मौजूद होने के बावजूद भी बढ़ई की कमी चलते रेडिमेड खरीदी कर रहे है। इस तरह का हाल सोने के जेवर का भी है। पहले अधिकतर लोग सोनार के पास जेवर बनवाने का काम करते थे। किंतु कई तरह की परेशानियों को ध्यान में रखते हुए इसकी खरीदी भी रेडिमेड हो रही है। दुल्हा दुल्हन के लिए रेडिमेड मुकुट की खरीदी जोरों से चल रही है।





शादी का सीजन

जेवर, साडिय़ां और इलेक्ट्रानिक सामानों की पूछ परख बढ़ी, दूर दराज के गांवों से खरीदारी करने शहर पहुंच रहे ग्रामीण