• Hindi News
  • लिंग जांच की सूचना पर निजी अस्पताल में छापा, सीनियर ड्रग कंट्रोलर को पड़े थप्पड़

लिंग जांच की सूचना पर निजी अस्पताल में छापा, सीनियर ड्रग कंट्रोलर को पड़े थप्पड़

8 वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक
भास्कर न्यूज -!- भिवानी
लिंग जांच होने की सूचना पर दिनोद गेट स्थित निजी अस्पताल में छापा मारने गई स्वास्थ्य विभाग की टीम के सीनियर ड्रग कंट्रोलर को वहां मौजूद कुछ युवकों थप्पड़ जड़ दिए। इस दौरान हुई हाथापाई में उनके कान के
अंदरूनी हिस्से में चोट आई है। उन्हें सामान्य अस्पताल में भर्ती कराया गया है। उधर, स्वास्थ्य विभाग की टीम ने अस्पताल में अल्ट्रासाउंड सेंटर और मशीनों का निरीक्षण किया। अस्पताल में चल रहे मेडिकल स्टोर पर टीम ने आपत्ति जताई और उसे सील करने की तैयारी चल रही थी।
एमडी एनआरएचएम के निर्देश के बाद जच्चा-बच्चा मृत्यु दर कम करने के लिए स्वास्थ्य विभाग व फूड एंड ड्रग एडमिनिस्ट्रिेशन की टीम जांच अभियान चलाए हुए है। मंगलवार शाम पांच बजे सीनियर ड्रग कंट्रोलर मनमोहन तनेजा, ड्रग इंस्पेक्टर रमन श्योराण की टीम के सदस्य जब अंदर घुसकर जांच करने लगे तो वहां मौजूद एक युवक ने विरोध किया और मनमोहन तनेजा को थप्पड़ जड़कर हाथापाई शुरू कर दी। इसी दौरान स्वास्थ्य विभाग की टीम भी कार्यकारी सिविल सर्जन डा. रवींद्र पूनिया के नेतृत्व में वहां पहुंच गई। टीम ने निरीक्षण किया। इस दौरान काफी हंगामा भी हुआ। पुलिस को भी बुलाना पड़ा। पुलिस ने आकर हंगामे को रोका। इसके बाद स्वास्थ्य विभाग की टीम ने जांच शुरू की। समाचार लिखे जाने तक फूड एंड ड्रग विभाग की टीम अस्पताल के अंदर चल रहे मेडिकल स्टोर पर जांच कर रही थी और कई दवाएं भी सील की गई थीं। स्वास्थ्य विभाग की टीम में कार्यकारी सिविल सर्जन डा. पूनिया के अलावा डिप्टी सिविल सर्जन डा. मीना बरबर, डा. अज्ञा राठौर भी शामिल थी।
हंगामे के दौरान लोगों की खासी भीड़ जमा हो गई। इस दौरान अस्पताल में भर्ती गर्भवती महिला सोनू ने बताया कि वह लघुशंका के लिए जा रही थी। अचानक कुछ लोग आए और पूछा कि कहां जा रहे हैं। जब उन्हें बताया कि वह लघुशंका के लिए जा रही है तो उन्होंने मना कर दिया और कहा कि पहले आप अपने बैड पर चलिए। महिला के पति मुकेश ने बताया कि उसकी पत्नी को तकलीफ थी और अचानक आकर रोक दिया। यह सब टीम में शामिल एक चिकित्सक ने रंजिशन किया है। मुकेश ने बताया कि टीम में शामिल एक चिकित्सक की पत्नी का प्राइवेट क्लीनिक है। पहले वहां इलाज चल रहा था। अब हम यहां आ गए हैं।