• Hindi News
  • ‘हम गांवों में लोगों की सेवा कर रहे हैं लेकिन विभाग हमें ही तंग कर रहा’

‘हम गांवों में लोगों की सेवा कर रहे हैं लेकिन विभाग हमें ही तंग कर रहा’

8 वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक
भास्कर न्यूज-!- कुरुक्षेत्र
रजिस्टर्ड मेडिकल प्रैक्टिशनर ((आरएमपी)) ने मंगलवार को जिंदल पार्क में बैठक कर अपनी मांगों पर विचार विमर्श किया। साथ ही स्वास्थ्य विभाग की कार्यप्रणाली को लेकर रोष जताया। इसके बाद सांसद नवीन जिंदल के नाम ज्ञापन उनके प्रतिनिधि को सौंपा। आरएमपी ने कहा कि वे लोग ग्रामीण एरिया में बैठकर लोगों की सेवा कर रहे हैं। ऐसे में स्वास्थ्य विभाग उन्हें नाजायज तंग कर रहा है। प्रवीण कुमार, गुरबाज सिंह, राजेंद्र सैनी , अमित, नरेंद्र कुमार, पवन, अमरीक, शीशपाल, हैप्पी, हंसराज , पिंदा, रामपाल व जितेंद्र आदि ने मांग की कि आरएमपी पर स्वास्थ्य विभाग की कार्रवाई बंद की जाए। साथ ही सरकार कोई प्रावधान निकालकर उन्हें नियमित कर उन्हें राहत दे। अथवा जो प्राइवेट अस्पतालों में आरएमपी हैं उन्हें 15 हजार रुपए मासिक के वेतन का प्रावधान किया जाए। ताकि उन्हें अलग से प्रेक्टिस करने की जरूरत ही न पड़े। उनका गुजर-बसर सही ढंग से हो सके।
दस को बैठक कर बनाएंगे रणनीति : आरएमपी धर्मबीर व पवन ने बताया कि सरकार ने 1995 में आरएमपी को नियमित करने की एक पॉलिसी बनाई थी। जिसके तहत कुछ आरएमपी ने रजिस्ट्रेशन फीस भी अदा की थी। लेकिन उसके बाद यह पॉलिसी ठंडे बस्ते में चली गई। जिसके कारण आरएमपी का शोषण हो रहा है। महेंद्र, जसबीर, जगदीश, विजय व फूल सिंह ने बताया कि शुक्रवार को जिंदल पार्क में बैठक कर आगामी रणनीति तय करेंगे। उन्होंने कहा कि वे अपने हितों को पाने के लिए कोई भी कदम उठाने से पीछे नहीं हटेंगे।
भाजपा ने दिया समर्थन : भाजपा जिलाध्यक्ष धुम्मन सिंह किरमिच ने जिंदल पार्क पहुंच आरएमपी को समर्थन दिया। धुम्मन ने कहा कि आरएमपी समाज सेवा का कार्य कर रहे है और गांव में देर-सवेर बीमार हुए लोगों को प्राथमिक उपचार देकर समाज सेवा का काम कर रहे हैं। उन्होंने कहा कि भाजपा की सरकार बनने पर विशेष पॉलिसी लाकर आरएमपी को राहत देने का काम किया जाएगा। इस मौके पर भाजपा जिला कोषाध्यक्ष सुशील राणा, कृष्ण ज्योतिसर, रोशन बेदी, मास्टर रामलाल सचदेवा, अमित रोहिला, गुलाब सिंह, अंग्रेज सिंह धर्मबीर आदि मौजूद थे।



कुरुक्षेत्र-!- जिंदल पार्क में बैठक कर रणनीति बनाते आरएमपी डॉक्टर।