• Hindi News
  • आईजी के आदेश पर अब पुलिस कराएगी आरोपियों का पोलीग्राफी टेस्ट

आईजी के आदेश पर अब पुलिस कराएगी आरोपियों का पोलीग्राफी टेस्ट

8 वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक
गांव के तीन अन्य आरोपियों पर लगाया है हत्या का आरोप
भास्कर न्यूज-!-बेरी
महिला की हत्या और उसके बेटे के घायल होने के मामले में पुलिस अब हत्यारोपियों का पोलीग्राफी टेस्ट कराएगी। साढ़े चार माह पूर्व बेरी के गांव चिमनी में रात्रि में धारदार हथियार से किए गए हमले के बाद यह आदेश मृतक की बेटी की शिकायत पर आईजी अनिल राव ने दिए।
24 सितंबर को सोते समय नकापोशों ने किया हमला
गत वर्ष 24 सितंबर को बेरी के गांव चिमनी में रात्रि के समय अपने घर में सो रहे तीस वर्षीय संसार व उसकी मां शकुन्तला पर अज्ञात नकाबपोशों ने धारदार हथियार से हमला किया गया था। हमले में गंभीर घायल होने के बाद शकुन्तला ने दम तोड़ दिया था, जबकि उसके बेटे संसार को चिकित्सकों बचा लिया गया था।
उस समय पीडि़त पक्ष की शिकायत पर बेरी पुलिस ने गांव के ही दो युवकों के खिलाफ हत्या किए जाने की आशंका के तहत मामला दर्ज कर उन्हें गिरफ्तार कर लिया गया था, लेकिन बाद में पुलिस जांच के दौरान ऐसा कोई भी सबूत सामने नहीं आया। पुलिस जांच के दौरान कुछ न मिलने की वजह से पकड़े गए दोनों आरोपियों को छोड़ दिया था।
हत्याकांड की जांच शुरू
एसएचओ रणधीर सिंह का कहना है कि शकुन्तला हत्याकांड की जांच एक बार फिर शुरू हो चुकी है। इस मामले में जिन्हें भी पीडि़त पक्ष ने हत्या का आरोपी ठहराया है उन सभी आरोपियों का पोलीग्राफी टेस्ट कराया जाएगा।




बेटी ने की दोबारा जांच की मांग, भाई को जान का खतरा

मामले को चार माह बीतने के बाद इसी मामले में मृतका की बेटी बलकेश ने रोहतक आईजी से मिलकर अब अपने भाई संसार की जान को खतरा होना बताया है और गांव के ही तीन अन्य व्यक्तियों पर मां शकुन्तला की हत्या किए जाने की आशंका जताते हुए मामले की तह तक जाने की गुहार लगाई है। आईजी द्वारा इस मामले में बेरी पुलिस को आदेश दिए हैं कि वह एक बार फिर से मामले की तह तक जाएं। चिमनी गांव के जिन तीन लोगों पर शकुन्तला की हत्या किए जाने का आरोप लगा है उन सभी का पोलीग्राफी टेस्ट कराएं।

चिमनी में धारदार हथियार से मां की हत्या और बेटे पर हमले का मामला