• Hindi News
  • सुबह परिवार के साथ नाश्ता और दोपहर पहुंचे समर्थकों के बीच

सुबह परिवार के साथ नाश्ता और दोपहर पहुंचे समर्थकों के बीच

8 वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक
अनिल बंसल / यजुवेंदर. सोनीपत - मतदाताओं को अपने पक्ष में लाने के रात-दिन के प्रयास तो कभी विपक्षी को घेरने की रणनीति। ऐसा ही सोनीपत के भावी सांसदों के रूप में लोकसभा चुनाव लड़ रहे उम्मीदवारों के मतदान पूर्व के दिन बीते, लेकिन शुक्रवार की सुबह कुछ सुकून की रही। आज न तो जनसंपर्क की चिंता थी और न कार्यकर्ताओं को बुलाने की। सुबह शांत मन से उठे। परिवार सदस्यों के साथ बड़े दिनों बाद इत्मीनान से नाश्ता किया। घर परिवार की बातें हुई। हालांकि कुछ ही समय बाद ही समर्थकों के घर आगमन पर फिर माहौल बदलते हुए पारिवारिक से राजनीतिक हो गया। जिसमें अखबार में चुनावी उत्सवों के दर्शन करते हुए हार जीत के ग्राफ पर चर्चाएं शुरू हो गईं।



पूरा दिन कार्यकर्ताओं के बीच रहे जगबीर



रमेश जींद गए, लक्ष्मी ने किचन संभाली

चेहरे पर थकान के बजाए खुशी से स्वागत

कांग्रेस प्रत्यशी जगबीर सिंह मलिक शुक्रवार को भी अन्य दिनों भांति सुबह जल्दी उठे। सुबह ही कार्यकर्ता घर पर आने शुरू हो गए। जो भी कार्यकर्ता पहुंचता, उसका प्रचार में सहयोग के लिए धन्यवाद करने के बाद उसके साथ चर्चा करते। दिन भर कार्यकर्ताओं का आना-जाना लगा रहा। मलिक ने बताया कि सभी कार्यकर्ताओं ने एकजुट होकर प्रचार किया। सीएम भूपेंद्र सिंह हुड्डा ने जो विकास कार्य कराए हैं, उनका काम जनता के सामने रखना था। जनता का निर्णय ईवीएम में बंद हो चुका है। अब तनाव कैसा, जो जनता ने निर्णय लिया होगा, वह जनता के सामने आ जाएगा। वे अपना मुकाबला भाजपा के साथ मान रहे हैं। जनता पर विश्वास जताते हुए कहा कि सोनीपत की जनता उन्हें संसद में भेजेगी। जिससे क्षेत्र का और अधिक विकास संभव हो सकेगा। उन्होंने बताया कि वे कार्य में विश्वास रखते हैं, इसलिए चुनाव के दौरान न तो शराब पिलाई और न ही किसी को पैसे बांटे। वे तो लोगों के बीच में रहकर उनकी समस्या का समाधान कराने में विश्वास रखते हैं। सांसद बनने के बाद भी लोगों के बीच में रहकर काम करेंगे।

सेक्टर-14 में रह रहे भाजपा के प्रत्याशी रमेश कौशिक अभी चुनाव की तैयारी में सुबह पांच बजे तक उठ जाते थे, लेकिन आज वे सात बजे उठे। पत्नी लक्ष्मी देवी के हाथों से बना नाश्ता लिया। अखबारों की सुर्खियां देख चुनावी उत्सव का आनंद लिया। इसके बाद सुबह-सुबह ही पहुंचे अपने समर्थकों का चुनाव में साथ देने के लिए धन्यवाद किया। फिर जींद के लिए रवाना हो लिए। वहां पार्टी कार्यकर्ता के साथ दुव्र्यवहार की खबर के मद्देनजर उन्होंने रोष जताया। वहीं दूसरी ओर उनकी पत्नी लक्ष्मी देवी उनसे भी कहीं अधिक बेफ्रिक दिखीं। चेहरे पर चिर परिचित मुस्कान के साथ घर पहुंच रहे मेहमानों का स्वागत किया। उन्होंने अपनी रसोई फिर से संभाल ली है। उनका कहना था कि चुनाव प्रचार के दौरान भी रसोई में तो वे आती रहती थीं, लेकिन आज कुछ ज्यादा अच्छा लग रहा है। नतीजे को लेकर भी वे पूरी तरह आश्वस्त दिखीं। वैसे एनसीसी कार्यालय के बगल में स्थित इस घर में यहां कुछ-कुछ माहौल कन्या की शादी के अगले दिन सा था। रमेश के भाई मेहमानों की आवभगत में व्यस्त दिखे तो बच्चे हिसाब-किताब में लगे हुए थे।



बहुत बढिय़ा रहा। समर्थकों की कोशिश रंग लाएगी। ये वे शब्द हैं जो सेक्टर 23 में रह रहे इनेलो उम्मीदवार पदम सिंह दहिया के जुबां पर रह रहकर आ रहे थे। उनके चेहरे पर कोई तनाव और थकान नहीं दिखी। जब भी कोई पार्टी समर्थक आता और बात होती और उसमें थकान की कोई बात आती तो कहते थकान कैसी। उनकी तो आदत हो चुकी है। इस बार समर्थकों की ओर से मिले उत्साह ने थकान होने ही नहीं दी। वैसे आज घर के सदस्य भी खुश थे। बेटी स्वीटी खासकर, क्योंकि चुनाव प्रचार के दौरान पिता अक्सर बाहर रहते थे, लेकिन आज काफी समय उन्होंने घर पर पारिवारिक बातों में व्यतीत दिए। घर पर बुआ भी पहुंची तो उन्होंने पारंपरिक अंदाज में उनकी अगवानी की। वहीं उनकी पत्नी राजवंती दहिया के लिए दिनचर्या में कोई विशेष बदलाव नहीं हुआ। हालांकि उन्हें भी खुशी इस बात की थी कि पति पदम की तरह उन्हें भी काफी संख्या में अपनी समर्थक प्रचार के दौरान मिलीं। अब राजवंती ने पहले की तरह घर का पूरा कम संभाल लिया है। बच्चे भी काफी खुश हैं कि आज मम्मी व पापा उनके साथ पूरे दिन रहेंगे।

सोनीपत. कांग्रेस प्रत्याशी जगबीर सिंह मलिक घर पर दोपहर को आराम से खाने का आनंद लेते हुए।

सोनीपत. भाजपा प्रत्याशी रमेश कौशिक के साथ उनकी पत्नी लक्ष्मी भी थी प्रचार में। शुक्रवार को उन्होंने किचन संभाल ली।

सोनीपत. इनेलो प्रत्याशी पदम सिंह दहिया को अशीर्वाद देती हुईं उनकी बुआ मेहर कौर व साथ में खड़े हैं परिवार के सदस्य।