• Hindi News
  • कटाई सीजन में खेतों को दी जाने वाली बिजली सप्लाई बंद होगी

कटाई सीजन में खेतों को दी जाने वाली बिजली सप्लाई बंद होगी

8 वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक
भास्कर न्यूज - सिरसा
गांव जीवननगर के एक किसान के खेत में शुक्रवार को गेहूं की फसल में शार्ट सर्किट से आग लग गई। जिससे किसान की डेढ़ एकड़ में खड़ी गेहूं की फसल राख हो गई। इस घटना से संज्ञान लेते हुए बिजली निगम ने तुरंत प्रभाव से खेतों से गुजर रही एपी फीडर की लाइनों को दिन में बंद रखने का निर्णय लिया है। बिजली विभाग ने सभी अधिकारियों को निर्देश दे दिये हैं कि दिन में बिजली बंद रखी जाए। इसे खेतों में ढाणी बनाकर रहने वाले वाशिंदों के लिए मुश्किलें खड़ी हो जाएगी।
गेहूं की पकी फसल बिजली की लाइन में शार्ट सर्किट की वजह से आगजनी का शिकार न हो जाए। इसके लिए निगम ने दिन में बिजली बंद करने का निर्णय लिया गया है। अधिकारियों व कर्मचारियों को पंचायतों से लिखित में रजामंदी मांगी जा रही है। निगम के अनुसार जो पंचायतें नहीं लिखकर देगी वहां की लाइन बंद नहीं की जायेगी। उनसे यह भी लिखवा लिया जायेगा कि अगर कोई शार्ट सर्किट से आगजनी होती है, तो विभाग की कोई जिम्मेवारी नहीं होगी। जो पंचायत लिखित में देगी वहां का एपी फीडर दिन में बंद कर
दिया जाएगा।
सुबह 8 से 6 बजे तक बंद रहेगी बिजली
विभाग ने आगजनी की घटना को रोकने के लिए कृषि फीडरों को सुबह 8 बजे से शाम 6 बजे तक बंद करने का निर्णय लिया है। वहीं किसानों को सिंचाई के लिए रात को पूरी बिजली उपलब्ध करवाई जायेगी। इसके अलावा गांवों की बिजली पहले की भांति सुचारु रूप से चलती रहेगी।
ढाणियों में रहते हैं करीब २२ हजार लोग
गर्मी का मौसम शुरू हो गया है। ऊपर से बिजली निगम द्वारा दिन में बिजली कट रखने के आदेश ने ढाणी में रहने वाले लोगों के लिए दुविधा खड़ी कर दी है। जिले में करीब 5 हजार ढाणी है। जिनमें करीब 22 हजार लोग रहते हैं। इसलिए गेहूं के सीजन में पूरा दिन लाइट बंद रहने से उन्हें गर्मी झेलने में परेशानी का सामना करना पड़ेगा। ढाणियों में बिजली कृषि फीडरों से ही जाती है।