• Hindi News
  • बहू के केस करने पर ससुर ने किया सुसाइड

बहू के केस करने पर ससुर ने किया सुसाइड

8 वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक
भास्कर न्यूज - फरीदाबाद
बहू द्वारा दर्ज कराए दहेज प्रताडऩा के केस से आहत होकर बुजुर्ग ससुर ने गुरुवार को जहरीला पदार्थ खाकर आत्महत्या कर ली। पुलिस ने मृतक के बेटे की शिकायत पर उसके ससुराल वाले तीन लोगों के खिलाफ आत्महत्या के लिए विवश करने का मामला दर्ज कर लिया है। एसजीएम नगर थाना पुलिस मामले की जांच कर रही है। मृतक ने एक सुसाइड नोट भी छोड़ा है। उसमें अपनी मौत का जिम्मेदार बेटे के ससुरालवालों को बताया है।
क्या है मामला : एफसीए-२५५१, गली नंबर ६, बी ब्लॉक एसजीएम नगर में रहने वाले सतेंद्र मलिक ने बताया कि उनके पिता महेंद्र सिंह मलिक टूरि\\\'म डिपार्टमेंट में काउंटर इंचार्ज थे। तीन साल पहले वे रिटायर हो गए थे। सतेंद्र ने बताया कि उनकी शादी ९ मई २००३ में पुठ खुर्द दिल्ली निवासी अरुणा के साथ हुई थी। तीन साल तक उनका गृहस्थ जीवन ठीक चला। उनकी एक १० साल की बेटी है। ३ साल बाद उनकी पत्नी अरुणा की उनके परिवार से नहीं बनी और उसने उनके परिवार के खिलाफ दहेज का केस का झूठा मुकदमा दर्ज करा दिया। तब से वह अपने मायके में रह रही है। इस कारण उनका पूरा परिवार तनाव में था। ७ अप्रैल २०१४ को उनका साला भूपेंद्र डबास हल्दीराम आया था। उसने उनको धमकी दी कि यदि २५ लाख रुपए व एक फ्लैट नहीं दिया तो तेरे पूरे परिवार को सड़क पर ला दूंगा। इसके बाद यह सारी बात उन्होंने अपने पिता महेंद्र मलिक को बताई। तभी से उनके पिता सदमे में थे। उनके ससुर प्रताप सिंह, पत्नी अरुणा व साले भूपेंद्र से परेशान होकर उनके पिता ने जहरीला पदार्थ खाकर जान दे दी। उनके पिता की जेब से एक सुसाइड नोट भी मिला है। इसमें उनके पिता ने लिखा है कि उनकी मौत के जिम्मेदार प्रताप सिंह व उसकी बेटी अरुणा है। इसके बाद मामले की सूचना पुलिस को दी गई। पुलिस ने सुसाइड नोट व शिकायत के आधार पर प्रताप सिंह, अरुणा व भूपेंद्र के खिलाफ मामला दर्ज कर लिया है।