• Hindi News
  • नीति के कारण पिछड़ा समाज उपेक्षित : हाकीम

नीति के कारण पिछड़ा समाज उपेक्षित : हाकीम

8 वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक
भास्कर न्यूज - बोकारो
सरकार की गलत नीतियों के कारण आजादी के बाद भी भारत का पिछड़ा समाज उपेक्षित है। सरकारी नीति में शिक्षा, स्वास्थ्य व कृषि के विकास के लिए जो भी प्रयास किए जा रहे हैं। वह अन्य देशों की तुलना में काफी कम हैं। इसका सीधा प्रभाव पिछड़ों के जीवनस्तर पर पड़ता है। यह बातें झारखंड कुशवाहा महासभा के प्रदेश अध्यक्ष हाकीम प्रसाद महतो ने कही। वे कुशवाहा भवन में आयोजित महात्मा ज्योतिबा फूले की जयंती समारोह में बोल रहे थे। उन्होंने कहा कि महात्मा फूले ने पिछड़ा समाज और महिलाओं के लिए शिक्षा का द्वार खोला। उनके प्रयास से ही पिछड़ा समाज के लोगों ने ब्राह्मण पुरोहितों से विवाह नहीं करवाने का निर्णय लिया, जो क्रांतिकारी घटना थी। खर्चीली शादी विवाह की जगह सरल रीतिरिवाज से विवाह कराकर ज्योतिराव ने समाज को नई चेतना दी। जो उस जामने में बड़े बड़े संत भी नहीं कर पाए थे। इस अवसर पर अध्यक्ष राजेश कुमार, सुनील गांधी, ओमप्रकाश आदि ने भी महात्मा फूले की सामाजिक क्रांति और उनके जीवन पर प्रकाश डाला।



ज्योतिबा फूले जयंती समारोह का आयोजन