• Hindi News
  • डीसी कार्यालय में लेटर ट्रेकिंग से रखी जा रही नजर

डीसी कार्यालय में लेटर ट्रेकिंग से रखी जा रही नजर

8 वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक
जमशेदपुर-!- उपायुक्त कार्यालय में आने वाले सभी सरकारी और गैर सरकारी पत्रों पर ‘लेटर ट्रेकिंग’ सॉफ्टवेयर से नजर रखी जा रही है। इसके सहारे एक मिनट में यह पता लग जाता है कि कौन-सा पत्र किस विभाग अथवा अधिकारी के पास गया है और उसकी क्या स्थिति है। डीसी डॉ अमिताभ कौशल ने जिला सूचना कार्यालय के सहयोग से इस सॉफ्टवेयर को तैयार करवाया है,। फिलहाल, इसका ट्रायल चल रहा है। नियम के मुताबिक सरकारी और गैर सरकारी पत्र अथवा आदेश जब उपायुक्त कार्यालय में पहुंचता है, तो वह सबसे पहले डीसी के पास भेजा जाता है। डीसी उस पत्र को देखते हैं, जिसे सरकारी भाषा में ‘सीन करना’ कहा जाता है। पत्र सीन होने के बाद संबंधित अधिकारी और व्यक्ति के पास भेजे जाने से पहले लेटर ट्रेकिंग सॉफ्टवेयर में ‘फीड ’ किया जाता है। इसके बाद पत्र संबंधित विभाग में भेजा जा रहा है।
क्या होगा लाभ : लेटर ट्रेकिंग सॉफ्टवेयर से कंप्यूटर का एक बटन दबाते ही यह पता चल जाता है कि कौन सा पत्र किस अधिकारी अथवा विभाग को भेजा गया और उस संबंध में जानकारी मांग ली जाती है। डीसी उस पत्र के बारे में संबंधित विभाग के अधिकारी के साथ विचार-विमर्श करते हैं। फिलहाल इस सुविधा को डीसी ही ऑपरेट कर रहे हैं।